धरना और भूख हड़ताल की तो सौ से ज्यादा को थमाए नोटिस

Dharmendra Ramawat | Publish: Jun, 14 2019 11:23:18 AM (IST) | Updated: Jun, 14 2019 11:45:54 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

चितलवाना. टांपी ग्राम पंचायत मुख्यालय पर गोचर व ओरण भूमि से अतिक्रमण हटाने को लेकर ग्रामीणों की ओर से लगातार धरना देने के बाद आखिरकार गुरुवार को प्रशासन की नींद खुली। तहसीलदार ने गोचर में 107 अतिक्रमियों को नोटिस देकर जवाब मांगा है। ग्रामीणों ने बताया कि टांपी पंचायत मुख्यालय पर सरपंच सहित कई दबंगों की ओर से गोचर व ओरण भूमि पर अतिक्रमण कर कब्जा किया जा रहा है। वहीं कई लोगों ने घरों के साथ ही दुकानें बनाकर व्यापार करना शुरू कर दिया है। कब्जा करने के बाद ये लोग जमीन को आगे से आगे बेचान कर रहे हैं। ऐसे में प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होते देख ग्रामीणों ने प्रशासन को चेताया। इसके बावजूद नहीं मानने पर धरना शुरू किया। तब जाकर प्रशासन हरकत में आया। वहीं तहसीलदार ने मौका मुआयना के बाद अतिक्रमण चिह्नित कर हटाने की कार्रवाई शुरू की।
सुनवाई कर हटाएंगे...
टांपी गांव की गोचर भूमि पर अतिक्रमण से खफा ग्रामीणों के धरने पर बैठने के बाद तहसीलदार ने मौका मुआयना किया। वहीं 107 अतिक्रमियों को नोटिस देकर उनसे जवाब मांगा है। सुनवाई के बाद अतिक्रमण पाए जाने पर जेसीबी से हटाया जाएगा।
लिखित आश्वासन के बाद उठाया धरना
टांपी गांव में गोचर व ओरण भूमि से अतिक्रमण हटाने को लेकर चल रहे ग्रामीणों के धरने को लेकर गुरुवार को एसडीएम जबरसिंह मौके पर पहुंचे और वार्ता के बाद एक महीने में अतिक्रमण हटाने का लिखित आश्वासन दिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने धरना उठाया। इस मौके तहसीलदार प्रेमाराम जाट, बीडीओ जगदीश विश्नोई, गंगाराम जाट, आसुराम गोदारा, रॉयल जाट, राणाराम माली, श्रवणसिंह, महेन्द्रसिंह व गोकुल जाट सहित कई मौजूद थे।
हिंडवाड़ा के ग्रामीणों ने उठाया धरना
इसी तरह गोमी पंचायत के हिंडवाड़ा की गोचर भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर चल रहा ग्रामीणों का धरना भी एसडीएम व तहसीलदार के आश्वासन के बाद समाप्त किया गया। अधिकारियों ने जल्द ही अतिक्रमियों को चिह्नित कर हटाने का आश्वासन दिया। इस मौके रघुनाथाराम, सोहनलाल, ओमप्रकाश, आसुराम, हनुमानाराम व पूनमाराम सहित कई लोग मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned