19 पर्यवेक्षक व 4 सहायक कृषि अधिकारियों का काम संभाल रहा एक अफसर

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 01 Mar 2020, 11:20 AM IST

जेताराम विश्नोई. चितलवाना. राज्य सरकार की ओर से किसानों को उन्नत खेती के लिए बढ़ावा देने को लेकर जोर-शोर से ढिंढोरा जरूर पीटा जा रहा है, लेकिन पंचायत समिति क्षेत्र में हकीकत इससे उलट है। यहां 23 कृषि अधिकारियों का पद महज १ पर्यवेक्षक संभल रहा है। पंचायत समिति के कृषि प्रधान गांवों में किसानों को उन्नत खेती की जानकारी देने के लिए 19 कृषि पर्यवेक्षक व 4 सहायक कृषि अधिकारी के पद सृजित तो किए गए, लेकिन लम्बे समय से अधिकतर पद रिक्त ही चल रहे हैं। ऐसे में गांवों में किसानों को खेती संबधी जानकारी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। पंचायत समिति के चितलवाना, झाब, डूंगरी व सुराचन्द में सहायक कृषि अधिकारी का पद सालों से रिक्त चल रहा है। वहीं चितलवाना, सिवाड़ा, रणोदर, डावल, हाडेचा, सेसावा, डूंगरी, भीमगुड़ा, दूठवा, खेजडिय़ाली, भाटकी, जानवी, हेमागुड़ा, झाब, इटादा, जोधावास, देवड़ा व परावा में कृषि पर्यवेक्षक का पद भी रिक्त है। ऐसे में केरिया कृषि पर्यवेक्षक के भरोसे इन सभी का जिम्मा है।
ये है अधिकारी का कार्य
पंचायत समिति के गांवों में सहायक कृषि अधिकारी की ओर से किसानों को फसल बीमा, फसल कटाई प्रयोग, कृषि अनुदान का भौतिक सत्यापन, किसानों को बीज वितरण, मृदा नमूना, जिप्सम वितरण, फसलों में कीट के प्रकोप से बचाव के उपाय बताने, शिविर लगाकर कृषि संबधी नई योजनाओं की जानकारी देना व प्राकृतिक आपदा के दौरान नुकसान का आंकलन करने सहित कई कार्य किए जाते हैं, लेकिन ये सभी काम फिलहाल महज एक कृषि पर्यवेक्षक के भरोसे हैं।
इनका कहना...
पंचायत समिति में नर्मदा से सिंचित क्षेत्र होने के बावजूद किसानों को समय पर योजनाओं, फसलों में कीटों के प्रकोप व अनुदान समेत विभिन्न जानकारी समय पर नहीं मिल पा रही है। ऐसे में सहायक कृषि अधिकारी के पद रिक्त होने से किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।
- इंदिरा विश्नोई, किसान, डूंगरी
केरिया को छोड़कर 18 कृषि पर्यवेक्षक व चार सहायक कृषि अधिकारी के पद रिक्त चल रहे हैं। इन सभी का चार्ज होने से कार्य समय पर पूरा करने में काफी परेशानी हो रही है।
- राकेशकुमार मीणा, कृषि पर्यवेक्षक, केरिया

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned