इस बार भी सरकारी भवनों में बदहाल रेन वाटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम

इस बार भी सरकारी भवनों में बदहाल रेन वाटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम
इस बार भी सरकारी भवनों में बदहाल रेन वाटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम

Dharmendra Ramawat | Updated: 29 Jun 2019, 11:02:09 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

आहोर. सरकार की ओर से बरसाती पानी के संग्रहण को लेकर कस्बे समेत क्षेत्र के राजकीय विद्यालयों समेत अन्य सरकारी भवनों में लाखों की लागत से वाटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम तो निर्मित कर दिया गया लेकिन वर्तमान में कई विद्यालयों एवं सरकारी भवनों में उचित देखरेख व रखरखाव के अभाव में बहुपयोगी वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बदहाल स्थिति में है। इससे बारिश में इनका उपयोग नहीं हो पाएगा।
बारिश के मौसम में हजारों लीटर व्यर्थ बह जाने वाले अनमोल पानी के संग्रहण को लेकर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की उपयोगिता को देखते हुए सरकार की ओर से कुछ साल पूर्व कस्बे समेत क्षेत्र के विभिन्न राजकीय विद्यालयों समेत अन्य सरकारी भवनों में लाखों की लागत से इसका निर्माण करवाया गया था। लेकिन वर्तमान में उचित देखरेख व रखरखाव के अभाव में कई विद्यालयों समेत सरकारी भवनों में स्थापित वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बदहाल स्थिति में है। ऐसे में आगामी बारिश के मौसम में पानी का संग्रहण होना संभव नहीं है। कई विद्यालयों व सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के तहत निर्मित पानी के टांकें एवं पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हालत में है। जिन्हे मरम्मत कर दुरुस्त करने को लेकर विद्यालय प्रशासन एवं संबंधित विभाग ध्यान नहीं दे रहा।
टांकों में नहीं होता जल संग्रहण
कस्बे समेत क्षेत्र के गांवों में कई राजकीय विद्यालयों एवं अन्य सरकारी भवनों में बरसाती पानी के संग्रहण को लेकर लाखों की लागत से निर्मित वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम दुर्दशा के चलते नाकारा पड़े हैं। कस्बे समेत क्षेत्र में कई सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के तहत टांके तो बने हुए है लेकिन पाइप लाइन जुड़ी हुई नहीं होने तथा क्षतिग्रस्त हालत में होने के कारण बारिश के दिनों में इन टांकों में पानी का संग्रहण नहीं होता है।
उपखंड मुख्यालय पर भी दुर्दशा
क्षेत्र के विभिन्न गांवों में सरकारी भवनों में बरसाती पानी के संग्रहण को लेकर लाखों की लागत से तैयार किए गए वाटर हार्वेस्टिंंग सिस्टम वर्तमान में बदहाल स्थिति में है। यहां तक कि उपखंड मुख्यालय पर भी ऐसे ही हालात बने हुए है। उपखंड मुख्यालय पर स्थित तहसील कार्यालय, राउप्रावि नंबर दो, आदर्श राउमावि समेत कई सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम दुर्दशा का शिकार बने हुए है। यहां बरसाती पानी के संग्रहण को लेकर लगाए गए पाइप क्षतिग्रस्त हालत में है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned