अस्पतालों में अब जांचेंगे रजिस्टर, हवा हुई बायोमीट्रिक उपस्थिति

अस्पतालों में अब जांचेंगे रजिस्टर, हवा हुई बायोमीट्रिक उपस्थिति

Jitesh kumar Rawal | Publish: Dec, 08 2017 11:31:03 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

प्रतिदिन सुबह भेजनी होगी कॉपी, स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर कलक्टर व सीएमएचओ ने जारी किए आदेश

जालोर. अस्पतालों में कार्यरत चिकित्सकों के लिए बायोमीट्रिक उपस्थिति अब काम नहीं आएगी। रजिस्टर में हस्ताक्षर के आधार पर उनकी हाजरी जांची जाएगी। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने इसकी मॉनिटरिंग करने के जिला कलक्टर्स को आदेश दिए हैं। जिलास्तर पर सीएमएचओ ने भी प्रत्येक चिकित्सा संस्थान प्रभारी को इस तरह के आदेश जारी किए है।
इसमें प्रतिदिन सुबह साढ़े नौ बजे रजिस्टर की फोटो प्रति जिला मुख्यालय पर भेजने के आदेश है। समय पर नहीं आने वाले चिकित्सकों पर निगरानी रखने के लिए यह व्यवस्था कारगर हो सकती है, लेकिन रजिस्टर से उपस्थिति जांचने पर बायोमीट्रिक हाजरी का औचित्य ही खत्म हो जाता है। अस्पतालों में कुछ माह पहले ही बायोमीट्रिक उपस्थिति के लिए थम्ब इम्प्रेशन मशीन लगाए गए हैं।
चरणबद्ध तरीके से जाएगी हाजरी
रजिस्टर की फोटो प्रति चरणबद्ध तरीके से स्वास्थ्य विभाग को पहुंचेगी। सीएमएचओ ने सभी प्रभारियों को इस सम्बंध में आदेश जारी किए हैं। इसके तहत जिलेभर की उपस्थिति को यहां एकत्र कर सुबह दस बजे जिला कलक्टर को भेजा जाएगा। वहां से उपस्थिति सम्बंधी फोटो प्रति स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख शासन सचिव को भेजी जाएगी।
नियमित अवलोकन के निर्देश
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख शासन सचिव वीनू गुप्ता ने गत २९ नवम्बर को ही सभी जिला कलक्टर को चिकित्सा संस्थानों के नियमित अवलोकन के निर्देश दिए हैं। इसके तहत ३० नवम्बर से अधिकारियों व कर्मचारियों की उपस्थिति जांचने को कहा है, ताकि चिकित्सा व्यवस्था सुदृढ़ हो तथा लोगों को सुविधा सुलभ हो सके। इसके बाद ही यह व्यवस्था शुरू की गई है।
... ताकि समय पर मिले सुविधा
प्रमुख शासन सचिव के आदेश में यह स्पष्ट है कि समाचार पत्रों व आमजन की शिकायतों से प्राय:यह जानकारी मिलती है कि चिकित्सा संस्थान समय पर नहीं खुलते या कार्मिक समय पर नहीं पहुंचते। इससे लोगों को आपातकाल में समुचित चिकित्सा लाभ नहीं मिल पाता। इस तरह की घटनाओं के कारण जन आक्रोश का सामना करना पड़ता है।इस तरह की घटनाओं को रोकने एवं लोगों को समय पर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से निर्देश जारी किए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned