scriptBlood component separator machine installed in Jalore, team visited, b | जालोर में ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन स्थापित, टीम ने किया विजिट, लेकिन लाइसेंस के लिए अभी इंतजार | Patrika News

जालोर में ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन स्थापित, टीम ने किया विजिट, लेकिन लाइसेंस के लिए अभी इंतजार

- ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन से ब्लड का चार स्तर पर हो सकता है उपयोगी, टीम ने किया निरीक्षण

जालोर

Published: July 12, 2022 08:53:55 pm

जालोर. कोरोना के विकट हालातों में ब्लड की कमी से हर वर्ग परेशान हुआ तो चिकित्सा महकमा भी इससे अछूता नहीं रहा। कोरोना संकट में प्लाज्मा और प्लेट्लेट्स की आवश्यकता भी पड़ी, जो ब्लड के ही कंपोनेंट होने के बावजूद जालोर में उपलब्ध नहीं हो रहे थे। इसी तरह आम दिनों में भी कई गंभीर बीमारियों में ब्लड के अलग अलग कंपोनेंट की जरुरत पड़ती है। लेकिन इस प्रक्रिया के लिए अब तक जिले में सुविधा नहीं है। इस परेशानी को दूर करने के लिए जालोर में ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन स्थापित करने की कवायद शुरु की गई। इसके लिए मशीन जालोर में जरुर पहुंच चुकी है। इस मशीन की लाइसेंस प्रक्रिया के लिए शुक्रवार को गाजियाबाद से टीम पहुंची। विभिन्न स्तर पर निरीक्षण के बाद मशीन और सेंटर स्थापित करने के लिए जो स्थान बनाए गए, उसको लेकर कमियां बताई और उन्हें दूर करने के लिए निर्देशित किया। जालोर स्तर से ब्लड बैंक के ऊपर ही एक कक्ष इस मशीन के लिए सुझाया गया था, लेकिन स्थान कम होने पर उस पर असहमत हुई। इसका विकल्प विभाग तलाश रहा है।
- ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन से ब्लड का चार स्तर पर हो सकता है उपयोगी, टीम ने किया निरीक्षण
- ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन से ब्लड का चार स्तर पर हो सकता है उपयोगी, टीम ने किया निरीक्षण
प्रक्रिया पूरी हो तो मिले राहत
विभागीय जानकारी के अनुसार मशीनरी करीब छह माह पूर्व जालोर में पहुंच चुकी है। अब इस मशीनरी का जल्द से जल्द लाइसेंस मिल जाए तो स्थानीय मरीजों को राहत मिलेगी और गंभीर मरीजों को जरुरत के अनुसार ब्लड के अलग अलग स्थानीय स्तर पर ही उपलब्ध हो सकेंगे।
इस तरह से उपयोगी यह मशीन
- ब्लड के चार प्रमुख कंपोनेंट होते हैं, जिसका अलग अलग उपयोग हो सकता है। इस मशीन से डेंगू, कोरोना, बर्न और थैलीसीमिया के मरीजों को ब्लड मिल सकेगा।
- थैलीसीमिया के मरीजों को लाल रक्त कणिकाएं (आरबीसी) की आवश्यकता होती है। इस मशीन से ब्लड से आरबीसी अलग करके थैलेसीमिया के मरीजों को चढ़ाया जा सकता है।

- डेंगू के मरीजों को प्लेटलेट्स चढ़ाए जाते हैं। इस मशीन से ब्लड से प्लेटलेट्स अलग किए जा सकते हैं।
- बर्न केस के मरीजों को बचाने के लिए प्लाज्मा की जरूरत होती है। इस मशीन से अब प्लाजमा और फ्रेश फ्रोजन प्लाज्मा (एफएफपी) को अलग कर मरीजों को चढ़ाया जा सकता है।

- कोरोना केस में प्लाज्मा डोनेट हो सकेंगे, जिससे उसे एंटीबॉडी मिल जाएगी।
करौली से आएगी एसटीपी मशीन
यह मशीन करौली जिले से जालोर लाई गई है। वहां यह मशीन उपयोग में नहीं आ रही थी। इस मशीन का उपयोग मुख्य रूप से प्लेटलेट्स में काम जाएगा। मुख्य रूप से डेंगू के प्रकोप में मरीजों में प्लेटलेट्स की कमी की समस्या आती है तो उसमें यह मशीन उपयोगी साबित होगी।

इनका कहना
टीम ने 8 जुलाई को निरीक्षण किया है। सिस्टम स्थापित करने के लिए छोटी मोटी क्वेरी है। जो कमियां बताई जा रही है, उन्हें पूरा कर दिया जाएगा। जल्द ही मशीनरी के लिए लाइसेंस मिल जाएगी, जिसके मरीजों को राहत मिलेगी।
- डॉ. एसपी शर्मा, पीएमओ, जालोर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

PM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्तFlag Code Of India: 'हर घर तिरंगा' अभियान शुरू, 15 अगस्त से पहले जानिए तिरंगा फहराने के नियम, अपमान पर होगी जेलMaharashtra: शिंदे कैबिनेट के विस्तार के बाद अब विभागों के बंटवारे पर फंसा पेंच, इन मंत्रालयों पर नहीं बन पा रही बातनीरज चोपड़ा को हराने वाले वर्ल्ड चैम्पियन एथलीट से पार्टी में हुई जमकर मारपीट, अधमरा कर बोट से नीचे फेंकाCoronavirus News Live Updates in India: सोनिया गांधी और मीरा कुमार को फिर हुआ कोरोना'प्लीज फिल्म का बायकॉट मत कीजिए', खाली सिनेमाघरों और कैंसिल शोज को देखते हुए बदले Kareena Kapoor के सुर, अब लोगों से कर रहीं रिक्वेस्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.