बाढ़ से टूटा था खेजडिय़ाली-वेडिय़ा मार्ग पर बना पुलिया, 10 माह से रास्ता बंद

बाढ़ से टूटा था खेजडिय़ाली-वेडिय़ा मार्ग पर बना पुलिया, 10 माह से रास्ता बंद
Bridge broken from flood, Way closed for 10 months

Dharmendra Ramawat | Updated: 01 Jun 2018, 10:55:33 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

कलक्टर ने भी चार माह पूर्व मौके पर जाकर अधिकारियों को दिए थे निर्देश

हाड़ेचा. नेहड़ के सीमांत गांवों को जोडऩे वाले वेडिय़ा से खेजडिय़ाली सड़क मार्ग पर बाढ़ के दौरान टूटा पुलिया दस माह बाद भी ठीक नहीं हो पाया है। जिससे खेजडिय़ाली से वेडिया, बाड़मेर व सुराचंद सहित पांच राजस्व गांवों का आवागमन बंद हो गया है। इसके बावजूद पीडब्ल्यूडी की ओर से पुलिया की मरम्मत करना तो दूर वैकल्पिक रास्ता तक नहीं बनवाया गया है। ऐसे में ग्रामीणों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इधर खेजडिय़ाली से बाखासर सड़क मार्ग पर बना पुलिया भी गारंटी अवधि में टूटकर पानी में बह गया था। हालांकि यह पुलिया बाढ़ से पूर्व में ही टूट चुका था। जिससे यह मार्ग भी बंद है, लेकिन विभाग ने ठेकेदार को लाभ पहुंचाने के लिए इस पुलिया को बाढ़ के दौरान आपदा के तहत टूटना बताकर कार्य की ईतिश्री कर ली। जिसके कारण बीते दस माह से यह रास्ता भी अवरुद्ध है। ग्रामीणों का कहना है कि इसके बाद कई बार प्रशासनिक अधिकारियों, कलक्टर व प्रभारी मंत्री सहित अन्य मंत्रियों ने भी दौरा किया, लेकिन ग्रामीणों को सिवाय आश्वासन ेके कुछ हाथ नहीं लग पाया है।
पानी सूखा फिर भी अनदेखी
नेहड़ के खेजडिय़ाली से वेडिय़ा डामर सड़क मार्ग पर टूटे पुलिये के निर्माण को लेकर विभाग की ओर से कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही है। वहीं यहां लूनी नदी के बहाव का पानी भी सूख चुका है। इसके बावजूद विभाग की ओर से वैकल्पिक रास्ते के लिए कोई कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। ग्रामीणों की मानें तो मानसून सिर पर है। जिसके कारण एक बारिश में ही ग्रामीणों को खेतों में जाने के लिए दिक्कतें झेलनी पड़़ेगी।
नेहड़ में अक्सर होते हैं ऐसे हालात
पीडब्ल्यूडी की ओर से ठोस कार्रवाई नहीं करने के कारण बारिश के दौरान अक्सर नेहड़ के कई रास्ते बंद हो जाते हैं। इसके बावजूद इन गांवों के रास्ते बहाली के लिए विभाग कोई उचित कदम नहीं उठा रहा है। जिससे ग्रामीणों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
पुलिया टूटा होने से दस माह से रास्ता बंद है। इस बारे में कई बार पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को अवगत करवाया गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इधर, मानसून भी सिर पर है। ऐसे में रास्ता बहाल नहीं होने से ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
- देवीसिंह राजपूत, ग्रामीण, खेजडिय़ाली
करीब सात माह पहले भी कलक्टर ने यहां दौरा कर वैकल्पिक मार्ग के लिए पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को निर्देशित किया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिससे आवागमन बाधित हो रहा है। समस्या को लेकर कोई भी अधिकारी गम्भीर नहीं है।
- सांवलसिंह, ग्रामीण, खेजडिय़ाली
इस मार्ग पर गैस एजेंसी भी आई हुई है, लेकिन रास्ते के अभाव में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कामकाज के लिए कई किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ रही है।
- नारायणसिंह, ग्रामीण, गलीफा
विभागीय अधिकारियों को इस बारे में कई बार अवगत करवाया, लेकिन वे इसके प्रति गम्भीर नहीं है। ऐसे में खेजडिय़ाली सहित अन्य गांवों के ग्रामीणों को आवागमन में समस्या हो रही है। पंचायत बैठकों में भी प्रस्ताव लेकर विभाग को अवगत करवाया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।
- गोमतीदेवी राजपुरोहित, सरपंच, खेजडिय़ाली

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned