आयुक्त समेत तीन अधिकारी और तीन कार्मिक मिले गैर हाजिर, सभापति ने दिया एक और यूओ नोट

आयुक्त समेत तीन अधिकारी और तीन कार्मिक मिले गैर हाजिर, सभापति ने दिया एक और यूओ नोट
Jalore Nagar parishad building

Dharmendra Ramawat | Updated: 03 May 2018, 09:49:45 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

सभापति ने फिर जारी किया आयुक्त को यूओ नोट, बताया लापरवाह

जालोर. नगरपरिषद सभापति की ओर से सोमवार शाम को नगरपरिषद कार्यालय में अधिकारियों और कार्मिकों की उपस्थिति जांची गई। इस दौरान आयुक्त सहित तीन अधिकारी और तीन कार्मिक सीट से गायब मिले। ऐसे में सभापति भंवरलाल माली ने सोमवार को आयुक्त शिकेश कांकरिया के नाम एक और यूओ नोट जारी किया। जानकारी के अनुसार सभापति माली सोमवार शाम करीब पौने चार बजे निरीक्षण के लिए नगरपरिषद कार्यालय पहुंचे। इस दौरान उन्होंने यहां कार्यरत अधिकारियों की उपस्थिति जांची तो आयुक्त कांकरिया, एक्सईएन विनय बोड़ा, एईएन महेश राजपुरोहित, राजस्व निरीक्षक मनीषा चौधरी, सहायक कर्मचारी जगदीश कुमार व सेवानिवृत्त कार्यालय अधीक्षक मफाराम गर्ग सीट से गायब मिले। ऐसे में सभापति ने आयुक्त को यूओ नोट जारी किया। जिसमें बताया गया कि गैर हाजिर सभी अधिकारी और कर्मचारी बिना अवकाश स्वीकृत कराए अनुपस्थित पाए गए।
किसी को नहीं दिया रूटीन चार्ज
यूओ नोट में बताया गया कि आयुक्त की ओर से अनुपस्थित अवधि में रहने से पूर्व कार्यालय का रूटीन चार्ज किसी को भी नहीं दिया गया। वहीं दो दिन का राजकीय अवकाश होने व सप्ताह के पहले दिन आयुक्त कार्यालय में अनुपस्थित रहे। जिसके कारण पार्षदों व आमजन की ओर से मौखिक तौर पर अवगत कराया गया कि इस अवधि में कार्यालय का रूटीन चार्ज किसी को भी नहीं देने से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा। इस तरह कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही व अनुशासहीनता के कारण आयुक्त के खिलाफ उच्चाधिकारियों को लिखकर नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
सभापति ने चेताया था
गौरतलब है कि नगरपरिषद सभापति माली ने आयुक्त को पूर्व में भी बिना सूचना के मुख्यालय छोडऩे पर उन्हें लापरवाह बताते हुए भविष्य में ऐसा होने करने पर उच्चाधिकारियों को लिखने की चेतावनी दी थी। सभापति की ओर से गत १७ अप्रेल को दिए गए पत्र में बताया गया था कि 4 से 11 अपे्रल तक माता की बीमारी का हवाला देते हुए लिए गए आकस्मिक अवकाश का प्रार्थना पत्र डीएलबी जयपुर को भेजकर प्रति उन्हें भिजवाई थी, लेकिन नियमानुसार उन्होंने इसकी जानकारी दूरभाष पर भी नहीं दी। जिससे शहर की सफाई व्यवस्था में व्यवधान उत्पन्न हुआ।
एक माह में पांच यूओ नोट
सभापति माली ने बीते अप्रेल महीने के दौरान आयुक्त को कुल पांच यूओ नोट जारी किए हैं। इनमें अम्बेडकर सभाभवन शिलान्यास पट्टिका पर सभी पार्षदों के नाम लिखने, शहर की लचर सफाई व्यवस्था को सुचारु रखने के लिए हटाए गए जमादार चम्पालाल को पुन: लगाने, भाजपा व कांग्रेस पार्षदों के साथ राजनीति कर बोर्ड गिराने का षड्यंत्र रचने, राजस्थान नगरपालिका सेवा नियमों में वरिष्ठता का उल्लंघन करते हुए बिना ध्यान में लाए सफाई कार्मिकों को जमादार के पद पर लगाने और ३० अप्रेल को निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित रहने को लेकर यूओ नोट जारी किया गया।
पत्रिका ने प्रकाशित किए थे समाचार
नगरपरिषद सभापति माली की ओर से आयुक्त को जारी किए गए यूओ नोट को लेकर पत्रिका ने गत १४ अप्रेल व १६ अप्रेल को समाचार प्रकाशित किए थे। जिसमें बताया गया था कि आयुक्त कांकरिया कार्यों प्रति गैर जिम्मेदार होने के कारण सभापति की ओर से नियमानुसार उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारियों को लिखने की चेतावनी दी है।
इनका कहना है...
सोमवार शाम करीब पौने चार बजे नगरपरिषद कार्यालय में अधिकारियों व कार्मिकों की उपस्थिति जांची थी। जिसमें आयुक्त सहित तीन अधिकारी और तीन कार्मिक अनुपस्थित थे। ऐसे में आयुक्त सहित अधिकारियों व कार्मिकों की ओर से बरती गई लापरवाही को लेकर यूओ नोट जारी किया गया है। इससे पहले भी आयुक्त बिना बताए छुट्टी पर गए थे। ऐसे में कार्रवाई के एि उच्चाधिकारियों को लिखने की चेतावनी भी दी गई है।
- भंवरलाल माली, सभापति, नगरपरिषद जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned