मंदिरों में हुई घट स्थापना, माता के दर्शन को उमड़े भक्त

Dharmendra Ramawat

Updated: 06 Apr 2019, 06:43:47 PM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

जालोर. शहर समेत जिले भर में शनिवार को देवी के उपासकों ने चैत्रीय नवरात्रि को लेकर शुभ मुहूर्त में घट स्थापना की। इस दौरान देवी की विशेष पूजा अर्चना कर खुशहाली की कामना की गई। वहीं मंदिरों में हवन का आयोजन भी किया गया। पंडित पवन दाधीच के अनुसार चैत्र नवरात्रि में माता की विधिवत पूजा अर्चना व व्रत करने से देवी की कृपा प्राप्त होती है। शहर के शिवाजी नगर स्थित चामुण्डा माता मंदिर में भी शनिवार को शुभ मुहूर्त में संत पवनगिरी और भक्तों की ओर से घट स्थापना की गई। इसके अलावा शहर के अन्य माता के मंदिरों, घरों और प्रतिष्ठानों पर भी भक्तों ने माता की विशेष पूजा अर्चना कर घट स्थापना की।
इन नौ देवियों की होती है पूजा
नवरात्रि के नौ दिन नौ देवियों की विशेष पूजा अर्चना की जाती है। जिसमें शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायिनी, कालरात्रि, महागौरी व देवी सिद्धिदात्री की पूजा अर्चना की जाती है। यह सभी मां शक्ति के अलग-अलग रूप हैं और हर रूप की उपासना से भक्ताओं को सिद्धि प्राप्त होती है।
रानीवाड़ा. कस्बे समेत आस पास के गांवों में चैत्र नवरात्रि के पहले दिन शनिवार को मंदिरों व घरों में मां शैलपुत्री की पूजा-अर्चना कर शुभ मुहूर्त में घट स्थापना की गई। पर्व को लेकर माता के मदिरों में दर्शन के लिए दिन भर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। मंदिरों में हवन व भजन-कीर्तन भी हुए। साथ ही भक्तों ने व्रत रखकर मनोकामना की पूर्ति के लिए अखण्ड ज्योत जलाकर ज्वारा भी लगाई। कस्बे के गायत्री मंदिर, शीतला मंदिर व दुर्गा मंदिर में मां भवानी के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की पूजा की गई। मंदिरों में दुर्गा सप्तसती के पाठ भी हुए।
9 दिन करेंगे उपवास
चैत्र नवरात्रि के अवसर पर महिला-पुरुषों ने मनोकानाओं की पूर्ति के लिए 9 दिन उपवास भी रखा है। नौ दिन कोई एक समय तो कोई दोनों समय का उपवास रखेंगे। वहीं कई आराधकों ने 9 दिन निर्जला उपवास भी रखा है। व्रतधारियों ने मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए मंदिरों में मनोकामना ज्योति कलश भी प्रज्ज्वलित किए हैं। पंडित शिवलाल जोशी ने बताया कि नवरात्रि में मनोकमना ज्योति कलश जलाने से भक्त की सारी इच्छाएं पूर्ण होती हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned