इस स्कूल में चलती है गुरुजी की मनमर्जी

Dharmendra Ramawat

Updated: 06 Apr 2019, 04:50:10 PM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

बडग़ांव. ग्रामीण व दूरस्थ क्षेत्रों में कमजोर तबके के बच्चों को बेहतर तालीम दिलाने के सरकारी दावे धरातल पर खरे नहीं उतर रहे हैं। निकटवर्ती रूपावटी खुर्द गांव में चल रही प्राथमिक विद्यालय में भी लम्बे समय से कुछ ऐसा ही चल रहा है। शुक्रवार को समय से पहले गुरुजी यहां की छुट्टी कर स्कूल से गायब हो गए। स्कूल का समय सुबह 7.30 से दोपहर 1 बजे तक का है, लेकिन रूपावटी खुर्द गांव में स्थित शाह दलीचंद गुलाबंद राजकीय प्राथमिक विद्यालय पर शुक्रवार को दोपहर 12.10 बजे ताला लटका मिला। गांव के आम चौहटे पर खड़े इसी स्कूल के कुछ बच्चों ने पूछने पर बताया कि स्कूल का समय बदलने के बाद रोजाना मैडम 12 बजे छुट्टी कर देती हैं। गौरतलब है कि जालोर जिला शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश में निचले पायदान पर है। सरकार ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा से वंचित बच्चों को विद्यालय से जोडऩे के लिए कई योजनाएं भी चला रही हैं, लेकिन उनकी प्रभावी ढंग से मॉनीटरिंग नहीं होने के कारण वंचितों को इसका पूरा फायदा नहीं मिल पा रहा है। वहीं आज भी कई स्कूलों में कागजी आंकड़ों के जरिए वाहवाही लूटी जा रही है, जबकि स्कूलों में ठहराव कुल नामांकन का आधा भी नहीं हो रहा है।
दो स्कूलें थी बंद
शुक्रवार दोपहर 12.10 बजे रूपावटी खुर्द गांव के आम चौहटे पर स्थित शाह दलीचंद गुलाबचंद राजकीय प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका स्कूल की छुट्टी कर निकल चुकी थी। स्कूल के मुख्य गेट पर ताला लगा हुआ था। वहीं विद्यालय के बच्चे भी घर की ओर जा रहे थे। इसी तरह यहां से कुछ ही दूर स्थित राजकीय संस्कृत उच्च प्राथमिक विद्यालय भवन पर भी ताला लगा था। विद्यालय के बाहर से देखकर लग रहा था कि यह कभी खुला ही नहीं होगा। विद्यालय के आगे कचरे का ढेर व गंदगी फैली हुई थी।
नहीं होता विद्यालयों का निरीक्षण
ग्रामीण व दूरस्थ क्षेत्रों के विद्यालयों का अधिकारियों की ओर से समय-समय पर निरीक्षण तक नहीं किया जाता है। जिसके कारण यहां कार्यरत शिक्षक मनमर्जी से विद्यालय चलाते हैं। प्रशासनिक अधिकारियों का साल में एक बार भी निरीक्षण नहीं होने से इन सरकारी विद्यालयों में अव्यवस्था दिनों-दिन बढ़ती जा रही है। निरीक्षण के अभाव में शिक्षक मर्जी से विद्यालय खोलते और छुट्टी करते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned