प्रीमियम तो जमा करवाया, नहीं मिली पॉलिसी

प्रीमियम तो जमा करवाया, नहीं मिली पॉलिसी

Dharmendra Kumar Ramawat | Publish: May, 18 2018 10:32:26 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

दुर्घटना के बाद बीमा क्लेम के लिए किसान काट रहे बैंक के चक्कर

चितलवाना. दी जालोर सैट्रल को-ऑपरेटिव बैंक की ओर से किसानों को दिए जाने वाले ऋण के साथ दुर्घटना बीमा का प्रीमियम काटकर जमा तो कर लिया गया, लेकिन किसानों को अब तक पॉलिसी नहीं मिल पाई है।ऐसे में किसानों को बैंक के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। ऐसे में कई काश्तकारों को दुर्घटना के बाद बीमा क्लेम भी नहीं मिल पा रहा है। बैंक की अरणाय शाखा में कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है। बैंक की ओर से हर साल किसानों को दिए जाने वाले ऋण के साथ फसल बीमा व सहकार जीवन सुरक्षा योजना के तहत दुर्घटना बीमा किया जाता है। ऐसे में बैंक से ऋण लेने वाले एक भी किसान को प्रीमियम जमा करवाने के बावजूद पॉलिसी जारी नहीं की गईहै। जिससे किसानों के साथ छलावा हो जा रहा है।
यूं खुली पोल
दुर्घटना के बाद एक किसान परिवार बीमा क्लेम की राशि के लिए अरणाय बैंक पहुंचा। इस दौरान परिजनों ने फसली ऋण के साथ सहकार जीवन सुरक्षा बीमा योजना के तहत जमा करवाए गए प्रीमियम के बारे में बताया। इसके बाद पता चला कि बीमा कम्पनी की ओर से एक भी किसान को इस बीमा की पॉलिसी जारी नहीं की गई है। ऐसे में यह मामला अन्य को भी ध्यान में आया।
261 किसानों ने जमा करवाया प्रीमियम
अरणाय बैंक की शाखा में 26 1 काश्तकारों की ओर से इस योजना के तहत करीब साढ़े चार लाख रुपए का प्रीमियम जमा करवाया था, लेकिन अब तक एक भी किसान को पॉलिसी जारी नहीं की गई है। ऐसे में किसानों ने इसे छलावा बताया।
इनकों नहीं मिला क्लेम
अरणाय निवासी मंगलाराम पुत्र फुआराम विश्नोई व पुर निवासी लाखाराम विश्नोई की ओर से फसली ऋण के साथ सहकार जीवन सुरक्षा बीमा योजना के तहत प्रीमियम की राशि जमा करवाई थी, लेकिन दुर्घटना के बाद से बीमा क्लेम के लिए परिजन बैंक के चक्कर लगा रहे हैं।
इनका कहना है...
पिताजी के नाम से सहकार जीवन सुरक्षा योजना के तहत प्रीमियम जमा करवाया गया था। इसके बावजूद पॉलिसी जारी नहीं की गई है। ऐसे में दुर्घटना के बाद से क्लेम के लिए बैंक के चक्कर काट रहे हैं।
- पूनमचन्द विश्नोई, बीमित मृतक मंगलाराम का पुत्र
हमने फसली ऋण के साथ किए गए दुर्घटना बीमा का जितना भी प्रीमियम जमा किया था, उसे हेड ऑफिस भिजवा दिया है। बीमा कम्पनी की ओर से अभी तक पॉलिसी प्राप्त नहीं हुईहै। प्राप्त होते ही किसानों को दी जाएगी।
- सियाराम मीणा, शाखा प्रबंधक, अरणाय

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned