सिर से गुजर गई दो सीजन, अब तक कर रहे बीमा क्लेम राशि का इंतजार

सिर से गुजर गई दो सीजन, अब तक कर रहे बीमा क्लेम राशि का इंतजार
सिर से गुजर गई दो सीजन, अब तक कर रहे बीमा क्लेम राशि का इंतजार

Dharmendra Ramawat | Updated: 28 Feb 2019, 11:32:21 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

बैंक व सेठ साहुकारों की उधारी चुकाने के लिए किसान को क्लेम राशि का इंतजार

भीनमाल. सरकार की ओर से प्राकृतिक आपदाओं से खेतों में होने वाले फसली नुकसान की भरपाई के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लागू किया गया। सरकार ने योजना लागू कर वाहवाही तो लूट ली, लेकिन बीमा योजना के तहत किसानों को फसली बीमा का क्लेम मिलने में करीब एक से डेढ़ साल का समय लग रहा है। वहीं समय पर क्लेम नहीं मिलने से किसानों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।
एक तरफ पिछले वर्ष अकाल की मारने किसानों की कमर तोड़ दी है तो दूसरी ओर क्लेम नहीं मिलने से किसानों को बैंक व सेठ साहुकारों को उधारी चुकाने में पसीने आ रहे है। किसान क्लेम की राशि कुछ उधार चुकने की आस लगाए बैठे है। सरकार ने बेहतर प्रशासन, हितधारकों के बीच समन्यवन करने, किसानों, राज्यों बीमा करने वालों, बैंकों के उचित प्रसार एवं पारदर्शिता के लिए बीमा पोर्टल बनाया। बैंकों एवं सहकारी समितियों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा पोर्टल पर किसानों के बचत खाता संख्या, आधार संख्या, मोबाइल नंबर, भूिम, फसलों के प्रकार सहित सभी सूचनाएं अपलोड कर दी है। लेकिन इसके बाद भी किसानों को फसल बीमा क्लेम की राशि के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। बीमा क्लेम के इंतजार में हजारों किसानों की आंखे पथरा गई है, परंतु अभी तक दो सीजन का बीमा क्लेम नहीं मिल पाया है। कृषि विभाग के अनुसार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में रबी फसल 2017 व खरीफ फसल 2018 के लिए 2 लाख 84 हजार 6 74 किसानों से प्रीमियम लेकर फसल का बीमा किया गया। रबी के लिए 56 हजार 573 व खरीफ के लिए 2 लाख 28 हजार 101 किसानों का बीमा किया गया। दोनों सीजन में रबी के लिए किसानों का बीमा बजाज एलायंज कंपनी और खरीफ का बीमा टाटा एआइजी कंपनी ने किया था।
136 करोड़ के क्लेम का भुगतान
जिले के किसानों को अभी तक खरीफ 2017 का ही बीमा क्लेम मिल पाया है। खरीफ 2017 के लिए 2 लाख 48 हजार 78 5 किसानों ने बीमा कराया था। जिसके लिए किसानों की ओर से 7.2 करोड़ का प्रीमियम जमा करवाया गया। वहीं 47.6 7-47.6 7 करोड़ का प्रीमियम राज्य व केन्द्र सरकार की ओर से जमा करवाया गया। जिसके बदले कंपनी की ओर से किसानों को 136 करोड़ की क्लेम राशि का भुगतान किया गया।
रबी 2017 व खरीफ 2018 का नहीं मिला क्लेम
कृषि विभाग के अधिकारियों के मुताबिक रबी 2017 में 56 हजार 573 किसानों की 1 लाख 12 हजार 238 हैक्टयर क्षेत्रफल का बीमा हुआ।
जिसके लिए 412 करोड़ की बीमा राशि के लिए किसानों की ओर से 14.34 करोड़ प्रीमियम का भुगतान किया गया। वहीं खरीफ 2018 में फसली बीमा के लिए 2 लाख 28 हजार 101 किसानों ने 11.2 करोड़ प्रीमियम का भुगतान किया। इसी तरह 2017 रबी के लिए केन्द्र व राज्य सरकार ने 18 .3 करोड़ व खरीफ 2018 के लिए 145.7 करोड़ के प्रीमियम का भुगतान बीमा कंपनी को किया। ऐसे में एक साल से अधिक समय गुजर जाने के बाद भी किसानों को दोनों सीजन की क्लेम राशि का इंतजार है।
समय लग सकता है
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को रबी 2017 व खरीफ 2018 का क्लेम अभी तक नहीं मिल पाया है। बीमा कंपनियों का कहना है कि क्लेम के लिए डाटा नहीं मिल पाएं है, डाटा मिलने पर भुगतान हो पाएगा। किसानों को क्लेम की राशि मिलने में अभी समय लग सकता है।
- आरबी सिंह, उपनिदेशक, कृषि विभाग-जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned