दांतिया ग्राम पंचायत की महिला सरपंच का सामाजिक सरोकार

दांतिया ग्राम पंचायत की महिला सरपंच का सामाजिक सरोकार
दांतिया ग्राम पंचायत की महिला सरपंच का सामाजिक सरोकार

Dharmendra Ramawat | Updated: 08 Mar 2019, 12:38:41 PM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

सांचौर पंचायत समिति के दांतिया ग्राम पंचायत की सरपंच है भगवतकंवर

श्रवण बिश्नोई
हाड़ेचा(जालोर). अपने लिए तो सब जीते है, लेकिन दूसरों के लिए जीने वाले लोग कम ही मिलते है। जी हां, हम बात कर रहे है जालोर जिले के सांचौर पंचायत समिति के दांतिया की सरपंच भगवत कंवर की। सरपंच राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर उपाधिधारक है।
महिला सरपंच चार साल से अपना वेतन एक वृद्धाश्रम को दे रही है। इतना ही नहीं गरीबों केे राशन का वितरण करना हो या पेयजल की व्यवस्था या फिर भूमिहीन लोगों को मकान बनाने के लिए खुद की जमीन पर प्लॉट उपलब्ध करवाना। सामाजिक सरोकार के हर कार्य में यह महिला सरपंच आगे रहती है।
महिला सरपंच भगवत कंवर में गांव के विकास कार्यों में अड़चन आने पर खुद के खर्च से भी गांव में विकास कार्य करवाए हैं। क्षेत्र में पेयजल समस्या को देखतेे हुए सरंपच भगवत कंवर ने दो साल पूर्व खुद के खर्च से गांव में दो ट्यूबवैल खुदवाकर दांतिया ग्राम पंचायत के वांक, दांतिया व अन्य राजस्व गांवों में घर-घर पानी पहुंचाकर लोगों की प्यास बुझाई।वहीं जालोर जिले में स्वच्छ भारत अभियान के तहत पहले ही दिन शौचमुक्त ग्राम पंचायत को घोषित करवाई। इस दौरान कई गरीब परिवारों की और से शौचालयों का निर्माण नहीं करने पर खुद के रुपए खर्चकर शौचालयों का निर्माण करवाया।
इसी तरह 2018 में गुजरात के चंडीसा राव समाज की कुलदेवी का मंदिर इनकी ग्राम पंचायत दांतिया में होने पर प्रतिष्ठा होने पर स्वच्छता पर ध्यान रखते हुए मंदिर परिसर में खुद के खर्च से 10 शौचालयों का निर्माण कर वहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए समर्पित किए। सरपंच गांव में बालिका शिक्षा के लिए भी लोगों को प्रेरित करती है। सरपंच के पति महावीरसिंह भी सामाजिक सरोकार के कार्य में कंधे से कंधा मिलाकर उनका साथ देते है।
शहीदों के परिवारों को दी सहायता राशि
महिला सरंपच ने जम्मू कश्मीर में शहीद सिरोही के नागाणी निवासी रमेशकुमार चौधरी व बाड़मेर के बायतु निवासी शहीद प्रेमसिंह, जैसलमेर निवासी नरपतसिंह राठोड़, जौधपुर के शेरगढ़ के प्रभुसिंह राठौड़ के परिवार के खातों में 25-25 हजार रुपए जमा करवाकर समाजिकर सरोकार का उदाहरण पेश किया।
चार साल से वृद्धाश्रम को वेतन
क्षेत्र के विद्यार्थियों को पर्यटक स्थलों का भ्रमण करवाने के साथ ही जोधपुर में रह रहे बेसहारा परिवारों के बच्चों को भी सरपंच समय-समय पर खुद के खर्च से भ्रमण करवाती है। सरपंच चार साल से अपना वेतन जोधपुर के एक वृद्धाश्रम को दे रही है। वहीं अपनी भूमि में होने वाले चारे को भी गोशाला के लिए भेजती है।
बाढ़ पीडि़तों के लिए खोल दिया अन्न भंडार
जालोर के सांचौर में बाढ़ के दौरान दांतिया ग्राम पंचायत पानी से चारों ओर घिरने पर सरपंच ने खुद के अनाज से भरे भंडार को खोल दिया। उन्होंने लोगों को खुद नि:शुल्क अनाज वितरण किया।वहीं जिन लोगों के घर पानी से घिर गए थे। उनके लिए कैंटीन खोलकर उन्हें भोजन उपलब्ध करवाया।
आवास के लिए दिए खुद की जमीन से पट्टे
सरकार की ओर से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों के लिए आवास निर्माण की राशि स्वीकृत हुई थी। लेकिन उनके पास खुद के नाम की जमीन नहीं होने से वे अपना मकान नहीं बनवा पा रहे थे। ऐसे में सरपंच भगवत कंवर ने खुद के खातेदारी में से पंाच परिवारों को जमीन उनके नाम से करवाकर पट्टे दिए।
इनका कहना...
लोगों के दु:ख-दर्द दूर करने के साथ ही लोगों के साथ कार्य करने की रुचि है। किसी की सहायता करने से मन को खुशी मिलती है। सामाजिक सरोकार के कार्य करना अच्छा लगता है।
- भगवत कंवर, सरपंच दांतिया

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned