जीप की टक्कर से बाइक सवार की मौत, पुलिस के रवैये पर फूटा आक्रोश

जालोर शहर में बड़ी पोल के निकट एक सडक़ हादसे में युवक की मौत हो गई। हादसा सोमवार शाम का है। इस हादसे में जीप की टक्कर में बाइक सवार दिनेश प्रजापत (45) पुत्र थानाराम प्रजापत की गंभीर चोट लगने के बाद उसे जालोर से अहमदाबाद रेफर किया गया, लेकिन वराड़ा-सिरोही के बीच उसने दम तोड़ दिया

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 31 Mar 2021, 10:55 AM IST

जालोर. जालोर शहर में बड़ी पोल के निकट एक सडक़ हादसे में युवक की मौत हो गई। हादसा सोमवार शाम का है। इस हादसे में जीप की टक्कर में बाइक सवार दिनेश प्रजापत (45) पुत्र थानाराम प्रजापत की गंभीर चोट लगने के बाद उसे जालोर से अहमदाबाद रेफर किया गया, लेकिन वराड़ा-सिरोही के बीच उसने दम तोड़ दिया, जिसके बाद शव को जालोर के राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया। हादसे के बाद परिजन और समाजबंधुओं ने आक्रोश जताया और आरोपी गिरफ्तारी करने के साथ उचित कार्रवाई की मांग की। परिजनों और समाजबंधुओं ने मामले में एएसआई शशिकला और पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान लगाए। साथ ही एएसआई के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। जिला अस्पताल में खासी भीड़ भी एकत्र हो गई। सूचना पर पुलिस जाब्ता भी मौके पर पहुंचा और समझाइश का प्रयास किया। दोपहर में एएसपी अनुकृति उज्जैनिया की समझाइश और जांच के साथ उचित कार्रवाई के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ और पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया गया। (एसं)
रिपोर्ट में जीप चालक के टक्कर मारने का आरोप
मृतक के भाई ने शहर के बागोड़ा रोड निवासी रवि पालीवाल के खिलाफ नामजद रिपोर्ट पेश की। रिपोर्ट के अनुसार चालक ने बाइक सवार को टक्कर मारी। जिससे वह पास के नाले में गिर गया और उसे गंभीर चोटें आई, जिससे उसकी मौत हो गई। घटनाक्रम के बाद आरोपी मौके से फरार है। पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।
ढिलाई बरतने का आरोप
मृतक के भाई ने उस समय ड्यूटी पर तैनात एएसआई शशिकला के खिलाफ लिखित में शिकायत भी पेश की। जिसमें कार्रवाई में ढिलाई का आरोप है। सवेरे एएसआई शशिकला मौके पर पहुंची तो लोगों ने नारेबाजी की। लोगों के आक्रोश के बीच उन्हें लौटना पड़ा। इधर, मामला बिगड़ता देख एएसपी मौके पर पहुंची। मौके पर मौजूद लोगों का आरोप है कि आरोपी रवि अपनी गाड़ी में शराब पी रहा था और उसके बाद दिन में तेज रफ्तार से गाड़ी चला रहा था, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। आरोप है कि घटनाक्रम के बाद भी लगभग पांच घंटे तक आरोपी शहर में ही गाड़ी दौड़ाता रहा, लेकिन उसे नहीं पकड़ा गया, जिसके कारण आरोपी मौके से फरार हो गया। समाजबंधुओं ने मामले में एएसआई की भूमिका पर सवालिया निशान लगाते हुए उसे हटाने की मांग की। इधर, एएसपी ने मामले में जांच के साथ उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।
यह सवाल अहम
दांतवाड़ा में शराब के नशे में कार चालक की ओर से टक्कर में पांच स्कूली बच्चों की मौत के मामले के बाद पुलिस का रुख सख्त जरुर हुआ है। पुलिस की ओर से शराब के नशे में वाहन चलाने के मामले में पिछले तीन दिन में 100 के लगभग चालान भी बनाए गए है, लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो जालोर का यह मामला भी ड्रिंक एंड ड्राइव का ही बताया जा रहा है।
सोशल मीडिया पर चर्चाएं
दांतवाड़ा हादसे के बाद यह हादसा भी खासा चर्चा में रहा। लोगों ने घटनाक्रम के बाद संवेदनाएं जाहिर की। साथ ही आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।
इनका कहना
परिजनों की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। आरोपी अभी फरार है। टीमें गठित की गई है। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
- लक्ष्मणसिंह, सीआई, जालोर

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned