अतिक्रमण हटाने गए पालिका के दस्ते को आखिर क्यों लौटना पड़ा बैरंग...पढ़ें पूरी खबर

www.patrika.com/rajasthan-news

सांचौर. शहर के न्यू बस स्टेशन के पास बुधवार शाम करीब 4 बजे अतिक्रमण हटाने गए नगरपालिका के दस्ते को दुकानदारों व ठेला संचालकों के बीच विवाद के बाद बिना कार्रवाई किए ही बैरंग लौटना पड़ा। नगरपालिका कार्मिक पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत बुधवार शाम को सुरक्षा जाब्ते के साथ बस स्टेशन पहुंचे। इस दौरान नगरपालिका कार्मिक कुछ दिन पूर्व नीलाम की कई दुकानों के पास लगा रखे केबिन हटाने लगे। इस दौरान मोहनलाल गोदारा के नेतृत्व में ठेला संचालकों ने पालिका की कार्रवाई को एकतरफा बताते हुए इसका विरोध करना शुरू कर दिया। इस दौरान ठेला संचालकों ने आरोप लगाया कि बस स्टेशन के पास पालिका की ओर से नीलाम की गई दुकानों को मापदंडों के विरुध बनाया गया है। वहीं नीलाम किए गए क्षेत्रफल की तुलना में ज्यादा भूमि पर अवैध रूप से निर्माण किया गया है। जिसकी पैमाइश कर उसे तुरन्त हटाने की मांग की गई। इस दौरान विवाद बढऩे पर पालिका की ओर से आवश्यक कागजों के आधार पर कार्रवाई करने की बात कही। जिस पर करीब दो घंटे के बाद नगरपालिका का जाब्ता बिना कार्रवाई किए बैरंग लौट गया।
नियम विरुद्ध बेदखल करने का आरोप
न्यू बस स्टेशन के पास केबिन व हाथ ठेला लगाकर बैठे दुकानदारों ने आरोप लगाया कि पालिका की ओर से उन्हें नियम विरुद्ध बेदखल किया जा रहा है। जबकि वेंडर अधिनियम के तहत उन्हें यह जगह आवंटित कर रखी है। उन्होंने आरोप लगाया वे पिछले बीस साल से इस स्थान पर बैठकर रोजी-रोटी कमा रहे हैं। ऐसे में पालिका द्वारा पक्का निर्माण हटाने की बजाय उन्हें प्रताडि़त किया जा रहा है।
इनका कहना...
नगरपालिका प्रशासन अतिक्रमण हटाने के नाम पर हाथ ठेला व लॉरी संचालकों को बेवजह परेशान कर रहा है। जबकि बस स्टेशन के पास करीब चार माह पूर्व नीलाम हुई दुकानों के नाम पर निर्धारित मापदंड से ज्यादा खाली पड़ी जमीन पर नियम विरुद्ध पक्का निर्माण कर दिया गया है। जिसे पालिका नहीं हटा रही है और ना ही पैमाइश कर रही है। इसको लेकर कार्रवाई होनी चाहिए। हाथ ठेला संचालकों को पालिका द्वारा वेंडर अधिनियम के तहत यह जगह आंवटित कर रखी है। पालिका भेदभाव पूर्वक कार्रवाई कर रही है। जिसका हम विरोध करेंगे।
- किशन गोदारा, अध्यक्ष, हाथ ठेला यूनियन सांचौर

Dharmendra Kumar Ramawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned