scriptEven after the warning, the situation did not improve, still the camp | चेतावनी के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं, अब भी मुख्य मार्ग पर निजी बसों का डेरा | Patrika News

चेतावनी के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं, अब भी मुख्य मार्ग पर निजी बसों का डेरा

- पत्रिका की खबर के बाद विभाग ने निजी बस संचालकों को दी हिदायत

जालोर

Updated: June 14, 2022 08:48:12 pm


जालोर. शहर में निजी बस संचालकों की मनमर्जी के मामले में राजस्थान पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बाद विभाग हरकत में आया है। पहले स्तर पर विभाग की ओर से सोमवार को परिवहन विभाग की ओर से बसों को मार्ग पर मनमर्जी से नहीं रोकने के लिए हिदायत दी गई है। यदि अब इस आदेश की पालना नहीं होती है तो विभागीय स्तर पर कार्रवाई होगी। मामले में खास बात यह है कि फिलहाल निजी बस संचालक इस कदर लापरवाह है कि उन्होंने मुख्य मार्गों को ही अपना पार्किंग स्पेस बना दिया है। इस स्थिति में सर्वाधिक परेशानी नया बस स्टैंड के पास हनुमान नगर कॉलोनी के मुहाने पर देखने को मिलती है। यहां एक तरफ बस संचालक ने बस संचालन के नाम पर इस पूरे क्षेत्र पर कब्जा कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ यहां फुटपाथ स्पेस तक को अपनी जद में ले लिया है।
- पत्रिका की खबर के बाद विभाग ने निजी बस संचालकों को दी हिदायत
- पत्रिका की खबर के बाद विभाग ने निजी बस संचालकों को दी हिदायत
पैदल राहगीर परेशान
इस क्षेत्र में निजी बस संचालक इस कदर लापरवाह है कि उन्होंने पैदल राहगीरों के लिए छोड़े गए फुटपाथ एरिया तक को कब्जा लिया है। यहां इन बस संचालकों की बुकिंग टेबल, बस में लोड होने वाला लगेज, इन बस संचालकों की एजेंसी फर्म का बोर्ड पड़ा रहता है।
पत्रिका ने उठाया मुद्दा
शहर की इस गंभीर समस्या पर राजस्थान पत्रिका ने 11 जून को ‘मुख्य मार्ग पर बना दिया पार्किंग जोन यातायात व्यवस्था बिगड़ी, लोग परेशान’ 13 जून को ‘निजी बसों के लिए स्टैंड एरिया काम नहीं आ रहा, 24 घंटै गुजरते हैं भारी वाहन’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किए।
सख्ती जरुरी, क्योंकि फिर बिगड़ेंगे हालात
जालोर में बदहाल और बिगड़ी यातायात व्यवस्था के लिए जिम्मेदार निजी बस संचालकों की मनमर्जी से जुड़ा यह मामला लंबे समय से चला आ रहा है और कई मौंकों पर प्रशासनिक और विभागीय स्तर पर इस समस्या के समाधान के लिए कदम भी उठाए गए, लेकिन उसका नतीजा यह हुआ कि कुछ दिन इस समस्या का समाधान जरुर हो गया, लेकिन उसके बाद फिर से निजी बस संचालकों की लापरवाही का खामियाजा पैदल राहगीर और अन्य वाहन चालकों को उठाना पड़ा।
पत्रिका व्यू: निजी बस स्टैंड से चले बसें
नया बस स्टैंड क्षेत्र के में निजी बसों के लिए बकायदा स्टैंड बना हुआ है। यदि उस क्षेत्र को ही निजी बसों को स्टॉपेज और स्टैंड के रूप में संचालित किया जाए तो समस्या का काफी हद तक समाधान हो सकता है। जबकि वर्तमान में जिन क्षेत्रों को बस स्टॉपेज के रूप में उपयोग लिया जा रहा है। वहां से केवल सवारियां उतारने और चढ़ाने की अनुमति ही दी जानी चाहिए, ताकि इन क्षेत्रों में बसों का स्थायी जमावड़ा नहीं होगा।
इनका कहना
निजी बस संचालकों को पहले स्तर पर इस समस्या को लेकर निर्देश दिए गए हैं। आदेशों की पालना नहीं करने पर अब नियमानुसार वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
- नाथूसिंह, जिला परिवहन अधिकारी, जालोर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, 160 विधायकों के साथ नई सरकार बनाने का दावा किया पेशBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, अब महागठबंधन के साथ बनाएंगे सरकारBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने इस्तीफा सौंपने के बाद कहा - 'बीजेपी के साथ एक नहीं कई दिक्कतें थीं''मुफ्त रेवड़ी' कल्चर के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट पहुंची आम आदमी पार्टी, कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेटगुजरात के जामनगर में मुहर्रम पर बड़ा हादसा, ताजिया जुलूस में करंट लगने से दो की मौत, कई घायललालू-नीतीश की दोस्ती से ढह जाते हैं सारे समीकरण, जानिए फिर कैसे कम हुई दोनों के बीच दूरियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.