जिला अस्पताल : मरीज झेल रहे पंखों से आते गर्म हवा के थपेड़े

जिला अस्पताल : मरीज झेल रहे पंखों से आते गर्म हवा के थपेड़े
Facility in District Hospital Jalore

Dharmendra Ramawat | Updated: 06 May 2018, 10:41:13 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

अस्पताल के वार्डों में कूलर तक नहीं, मरीज हो रहे हलकान

जालोर. इन दिनों समूचा प्रदेश भीषण गर्मी में तप रहा है, लेकिन जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को राहत देने के कोई प्रबंध नहीं किए जा रहे।तेज धूप से लू-तापघात का खतरा भी मंडरा रहा है, लेकिन अस्पताल में बचाव के ठोस इंतजाम तो दूर कूलर तक नहीं लगाए। वार्डमें भर्ती मरीज मजबूरन पंखों से आते गर्म हवा के थपेड़े झेल रहे हैं। आसमान से आग बरस रही है, लेकिन वार्डों में कूलर तक नहीं है। इससे मरीजों को बीमारी के साथ गर्मी से भी जूझना पड़ रहा है। हालांकि कुछ वार्डों में जरूर एक-एक कूलर लगाया है, लेकिन लम्बे-चौड़े वार्ड में यह व्यवस्था नाकाफी साबित हो रही है।वैसे दिखावे के लिए ही लगाने से इन कूलर को भी स्टार्ट नहीं किया जा रहा। अस्पताल में राहत के ठोस इंतजामात नहीं होने से मरीज हलकान हो रहे हैं, लेकिन जिम्मेदारों की नींद नहीं खुल रही। ऐसे में भीषण गर्मी में अस्पताल आने वाले मरीजों कीमुश्किलें और बढ़ रही है।
अभी यह व्यवस्था
- सर्जिकल वार्ड में एक कूलर, दिखावे के लिए
- मेल मेडिकल वार्ड में एक भी कूलर नहीं
- मेल मेडिकल वार्ड में लगा एक एसी चालू नहीं
- सर्जिकल व मेडिकल महिला वार्डमें एक कूलर
डॉक्टर चैम्बर में कूलर-एसी
जिला अस्पताल में दो तरह की व्यवस्था चल रही है। मरीज जहां परेशानी झेल रहे हैं वहीं डॉक्टर चैम्बर के लिए कूलर व एसी तक लगे हुए हैं।सुबह-शाम दो पारी में आने वाले डॉक्टर अपने चैम्बर में मरीज देखते हुए कूलर से राहत पाते हैं। आपातकालीन ड्यूटी डॉक्टर के कक्ष में एसी लगा हुआ है।
धराशायी नजर आ रहा कंटीजेंसी प्लान
जिला अस्पताल की इन व्यवस्थाओं को देखा जाए तो कंटीजेंसी प्लान धराशायी नजर आता है।प्लान के तहत गर्मी से पहले ही कूलर ठीक करवाने या नए मंगवाने की व्यवस्था हो जानी चाहिए थी। लेकिन, यह अब हो रहा है।अधिकारी बताते हैं कि हाल ही में कुछ कूलर ठीक करवाए गए हैं। अन्य कूलर ठीक करवाए जा रहे हैं और कुछ नए कूलर भी मंगवाए हैं।इससे जल्द ही सभी वार्डों में कूलर लग सकेंगे।
फिर भी सुविधा नहीं
नियमानुसार गर्मी की शुरुआत में ही मरीजों को राहत देने के प्रयास हो जाने चाहिए थे, लेकिन भीषण गर्मी का दौर शुरू होने के बावजूद कुछ नहीं हुआ। अस्पताल समय भी देखा जाए तो एक अप्रेल से ग्रीष्मकाल शुरू हो जाता है, लेकिन पूरा माह बीत जाने पर भी राहत के उपाय नहीं किए।
एक-दो दिन में लग जाएंगे...
कुछ कूलर ठीक करवाए हैं तथा नए मंगवाने का ऑर्डर भी दिया है।जिन वार्डों में कूलर नहीं लगे हैं वहां एक-दो दिन में ही लगा देंगे। वैसे लू-तापघात का कोई मरीज सामने नहीं आया है, लेकिन अस्पताल में समुचित व्यवस्था कर रखी है।
-डॉ.एसपी शर्मा, पीएमओ, जिला अस्पताल, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned