आग बुझाने गई दमकल 100 मीटर पहले ही हुई पंक्चर, खड़े-खड़े देखते रहे कार्मिक

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. शहर के नया बस स्टैंड के पास स्थित हनुमान नगर कॉलोनी में डाले जा रहे पूरे शहर के कचरे में शनिवार देर शाम एक बार फिर किसी ने आग लगा दी। जिसके बाद कॉलोनीवासियों की सूचना पर शाम करीब साढ़े सात बजे आग को बुझाने के लिए दमकल यहां पहुंची, लेकिन मौके पर पहुंचने से करीब सौ मीटर पहले ही दमकल का आगे वाला एक टायर पंक्चर हो गया। ऐसे में पाइप छोटा होने से दमकल कार्मिक भी आग बुझाने की प्रक्रिया तक शुरू नहीं कर पाए। करीब सवा घंटे तक दमकल और उसके साथ पहुंचे कार्मिक वहीं खड़े रहे और कचरे के ढेर में आग सुलगती रही। दमकल कार्मिकों का कहना था कि उन्होंने इस बारे में शाखा प्रभारी को सूचना भी दी, लेकिन वाहन के साथ अतिरिक्त टायर नहीं होने के कारण वे कुछ नहीं कर पा रहे थे। गौरतलब है कि हनुमान नगर में डाले जा रहे इस कचरे में आग लगने की यह घटना पहली बार नहीं हुई है। यहां करीब छह से सात बार कचरे के ढेर में आग लग चुकी है। बार-बार आग लगने के कारण उठने वाले धुएं से मौहल्ले सहित आस पास की कॉलोनियों के लोगों का भी दम घुट रहा है। इसके बावजूद प्रशासन इस गंभीर समस्या को हल्के में ले रहा है।
जनसुनवाई में दिया था आश्वासन
मौहल्लेवासियों ने बताया कि गुरुवार को कलक्टर की मौजूदगी में हुई जन सुनवाई के दौरान इस समस्या को रखा गया था, लेकिन कलक्टर का कहना था कि यह हर जगह की समस्या है और शहर का कचरा शहर में नहीं तो कहां डाला जाएगा। साथ ही इस जगह दोबारा आग ना लगे इसलिए एक कार्मिक को नियुक्त करने का आश्वासन भी दिया था, लेकिन ना तो किसी कार्मिक की नियुक्ति की गई और ना ही आग लगने का यह सिलसिला बंद हो रहा है।
कहीं भी नहीं है ऐसा नियम
देश भर में केंद्र सरकार की ओर से स्वच्छ भारत मिशन अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश दिया जा रहा है, जबकि जालोर जिला मुख्यालय पर आला अधिकारी ही आबादी क्षेत्र में डाले जा रहे पूरे शहर के कचरे के मामले को फोरी तौर पर ले रहे हैं। आबादी क्षेत्र में पूरे शहर का कचरा डालने के बारे में ऐसा कोई नियम नहीं है। फिर भी इस पर रोक नहीं लगाई जा रही है। जिससे आमजन को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

Dharmendra Kumar Ramawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned