जालोर की इस कॉलोनी को नगरपरिषद ने बना रखा है डंपिंग यार्ड, कोई बार-बार यहां कचरे में लगा रहा आग

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. शहर स्थित हनुमान नगर कॉलोनी में नगरपरिषद की ओर से डाले जा रहे पूरे शहर के कचरे में बुधवार शाम को एक बार फिर किसी ने आग लगा दी। आग लगने के बाद उठा धुआं ना केवल वार्डवासियों के लिए आफत बना, बल्कि आस पास की कॉलोनियों के लोगों को भी इससे काफी परेशानी झेलनी पड़ी। आगजनी के बाद वार्ड के लोगों ने हैल्प लाइन पर इसकी शिकायत दर्ज करवाई। जिस पर हैल्पलाइन से नगरपरिषद अग्निशमन केंद्र पर सूचना दी गई और कुछ ही देर बाद दमकल हनुमान नगर कॉलोनी पहुंची। जहां कचरे के ढेर में लगी आग को काफी मशक्कत के बाद बुझाया गया। वार्डवासियों का कहना है कि आगजनी की यह पहली घटना नहीं है, बल्कि इससे पहले भी कई बार इस कचरे में आग लग चुकी है। पूरे शहर का कचरा इस वार्ड में डाला जा रहा है। जिसके कारण यहां कचरे का पहाड़ सा बन गया है। बार-बार शिकायत के बावजूद नगरपरिषद की ओर से इसी वार्ड में कचरा डाला जा रहा है।
अतिक्रमियों की नजर
परिसीमन के बाद बने शहर के इस वार्ड (नया वार्ड-४०) में जहां कचरा डाला जा रहा है, उसी जगह के आस पास रहने वाले लोगों का कहना है कि गोशाला के पीछे पड़ी नगरपरिषद की जमीन पर कुछ अतिक्रमियों की नजर है। जिसके कारण बार-बार यहां जान बूझकर आग लगाई जा रही है। जिसके बारे में संपर्क पोर्टल पर शिकायतें भी दर्ज कराई जा चुकी है। फिर भी अधिकारियों की शह के चलते कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।
बना रखा है डंपिंग यार्ड
गौरतलब है कि नया बस स्टैंड के पास स्थित हनुमान नगर कॉलोनी में कई सालों से पूरे शहर का कचरा डाला जा रहा है। कई बार इस वार्ड के लोग आपत्ति भी उठा चुके हैं और इसके बाद मौके पर पहुंचे नगरपरिषद अधिकारियों ने कार्मिकों को यहां कचरा नहीं डालने के पाबंद भी किया, लेकिन आज भी यहां हर रोज पूरे शहर का कचरा डाला जा रहा है। हालत यह है कि इस वार्ड में कचरे के पहाड़ बन चुके हैं। फिर भी अधिकारी इस बारे में कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।
इनका कहना...
हैल्पलाइन के अलावा संपर्क पोर्टल पर भी मैंने यहां कचरा नहीं डालने के लिए शिकायतें दर्ज करवा रखी है। कचरे में बार-बार जान बूझकर आग लगाई जा रही है। ताकि यहां अतिक्रमण हो सके। नगरपरिषद अधिकारी जानबूझकर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। जबकि डीएलबी ने इसी साल कचरा निस्तारण के लिए नगर निकायों में स्पष्ट गाइडलाइन जारी की है। यहां आने वाला हर नगरपरिषद अधिकारी इसे नजरंदाज कर रहा है। शिकायत के बाद हाल ही में नगरपरिषद ने न्यायिक अधिकारियों को जवाब में आस पास कोई आबादी नहीं होने का हवाला दिया है। जबकि मेरे अलावा कई परिवार यहां निवास कर रहे हैं।
- दिनेश सुंदेशा, कंपाउंडर, हनुमान नगर जालोर

Dharmendra Kumar Ramawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned