जालोर हादसाः एक साथ उठी भाई-बहनों की अर्थी, मचा कोहराम

पांच मासूमों की मौत के बाद हर कोई गमगीन रहा। ढाणी से पांच भाई-बहनों की घर से अर्थी उठी तो वहां कोहराम सा मच गया।

By: kamlesh

Published: 25 Mar 2021, 07:58 PM IST

जालोर/भीनमाल। पांच मासूमों की मौत के बाद हर कोई गमगीन रहा। ढाणी से पांच भाई-बहनों की घर से अर्थी उठी तो वहां कोहराम सा मच गया। हर किसी की आंखें नम हो गई। शवयात्रा गांव से गुजरी तो ग्रामीण भी आंसू नहीं रोक पाए। ग्रामीणों के मुंह पर ये ही शब्द थे 'हे भगवान यह क्या किया...'। दांतवाड़ा गांव के रानीवाड़ा-करड़ा रोड पर बुधवार शाम को हुई हृदय विदारक घटना के चलते गांव पूरी तरह बंद रहा। गांव में दिनभर चूल्हे तक नहीं जले। जान गंवाने वाले भाई-बहनों का गुरुवार को गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार हुआ। कार चालक की लापरवाही से चार परिवारों के घर की खुशियां उजड़ गई। कांग्रेस नेता रतन देवासी ने मृतकों के परिजनों को अधिकाधिक सरकारी सहायता दिलवाने का आश्वासन दिया। घटना को लेकर पर्याप्त पुलिस जाब्ता तैनात रहा।

घर पहुंचने ही वाले थे कि हो गया हादसा
नौनिहाल गांव के सरकारी विद्यालय में अध्ययनरत थे। विद्यालय से छुट्टी होने के बाद बच्चे बुधवार शाम को करड़ा रोड पर विद्यालय से करीब एक किलोमीटर दूरी पर स्थित अपने घर जा रहे थे। घर से करीब 30 मीटर पहले कार चालक ने इन्हें चपेट में ले लिया।

दो सगे भाइयों के थे तीन मासूम
कार चालक की लापरवाही से दांतवाड़ा गांव में चार परिवारों के घर के चिराग बुझ गए। दांतवाड़ा विद्यालय के शिक्षक विचनाराम देवासी ने बताया कि मृतक विक्रम पांच बहनों का इकलौता भाई था। हादसे में उसकी बहन वीणा की भी मौत हो गई। मृतकों के पिता गुजरात के सूरत में मजदूरी करते हैं। मृतक बालक सुरेश के पिता बेचराराम देवासी का पांच साल पूर्व निधन हो चुका था। उसकी बहन भी गंभीर घायल है। उसकी मां लालन-पोषण कर उन्हें पढ़ा रही थी। उसका एक छोटा भाई भी है। मृतक वर्षा के पिता रतनाराम टै्रक्टर चालक हैं। रमीला विद्यालय की छुट्टी होने पर बच्चों के साथ ननिहाल जा रही थी। उसके पिता जामताराम देवासी जसवंतपुरा में सरकारी शिक्षक हैं।

वाहन चालक को जेल
कार को तेजगति व लापरवाही से चलाकर पांच बच्चों की जान लेने के मामले में पुलिस ने गंभीर अपराध में मामला दर्ज किया। करड़ा थाना प्रभारी अवधेश सांदू ने बताया कि कार चालक करवाड़ा निवासी सुरेशसिंह पुत्र सांवलसिंह रावणा राजपूत व अशोककुमार पुत्र हड़मताराम भील के खिलाफ धारा 304 आपराधिक मानव वध व 308 में अपराधिक मानव वध के प्रयास का मामला दर्ज किया। पुलिस ने दोनों वाहन चालकों का मेडिकल करवाकर उन्हें न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned