जरुरतमंदों को मिलती है निशुल्क शिक्षा

जरुरतमंदों को मिलती है निशुल्क शिक्षा

Dharmendra Ramawat | Updated: 01 Jul 2018, 06:57:38 PM (IST) Jalore, Rajasthan, India

जिन बच्चों के माता-पिता इस दुनिया में नहीं है ऐसे बच्चों को निशुल्क पढ़ाया जा रहा है, निजी विद्यालय संचालक दे रहा है अनूठा उदाहरण


तुलसाराम माली
भीनमाल ञ्च पत्रिका. आमतौर पर मनमानी फीस और शिक्षा के नाम पर बिजनेस का जरिया माने जाने निजी शिक्षण संस्थानों की इस छवि के विपरीत भीनमाल के एक निजी विद्यालय संचालन ने अनूठी मिसाल पेश की है। इस निजी विद्यालय में अनाथ और जरुरत मंद बच्चों के लिए 10वीं तक की पढ़ाई स्कूल की ओर से निशुल्क दी जा रही है। शहर की इंदिरा पब्लिक स्कूल शिक्षा के साथ समाजसेवा का अनूठा उदाहरण पेश कर रहा है। 1995-96 में विद्यालय संचालक के एक मित्र की सड़क दुर्घटना में मौत के बाद उसके बच्चों को निशुल्क प्रवेश दिया।उसके बाद यह विद्यालय की परपाटी बन गया। इस विद्यालय में अनाथ बच्चों को निशुल्क प्रवेश देकर कक्षा प्रथम से 10 वीं तक निशुल्क अध्ययन करवाया जा रहा है। विद्यालय में 20 सालों से दर्जनों बच्चे ऐसे पढ़े है जिनके माता-पिता दुनिया में नहीं है। वर्तमान में भी विद्यालय में 41 बच्चे ऐसे निशुल्क अध्ययन करवाया जा रहा है और इसका वहन भी स्कूल प्रशासन की ओर से उठाया जा रहा है। इसके अलावा विद्यालय से इन जरूरतमंदों को कुछ पाठ्यसामग्री भी दी जाती है। दरअसल, सरकार की ओर से 2012 से आरटीई के तहत अभावग्रस्त व दुर्लभ क्षेत्रों के बच्चों को निजी विद्यालयों में नि:शुल्क पढ़ाने के निर्देश दिए है। लेकिन इस विद्यालय में बच्चों को 41 सालों से ऐसे बच्चों को नि:शुल्क पढ़ाया जा रहा है। विद्यालय में वर्तमान में भी कक्षा दसवीं में 5, नौ में 1, आठवीं में 1, सातवीं में 4 व छठी में 4, पांच में 3, 4 में 8 , तृतीय में छह, द्वितीय में 4, प्रथम में 5 बालक निशुल्क पढ़ रहे है।
ज्ञान बाटने से बढ़ता है।
&ज्ञान बाटने से ही ज्ञान बढ़ता है। गरीब व कमजोर वर्ग के बच्चों को 15 साल से निशुल्क पढ़ाया जा रहा है। इससे मन को सुकून मिलता है। अभी भी विद्यालय में 41 बच्चे निशुल्क पढ़ रहे है।
बागाराम मेघवाल, संचालक, इन्दिरा पब्लिक स्कूल, भीनमाल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned