होनहार बेटियों को दिए गार्गी व इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार

जालोर, भीनमाल व आहोर में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली होनहार बेटियों को दिए गार्गी व इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 17 Feb 2021, 09:40 AM IST

जालोर. शहर के प्रताप चौक स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में गत वर्ष बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण प्रतिभाशाली छात्राओं को बसंत पंचमी पर आयोजित समारोह में गार्गी व इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरुस्कार प्रदान किए गए। इस दौरान इस दौरान 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाली 266 बालिकाओं को इंदिरा प्रियदर्शनी पुरस्कार, गार्गी पुरस्कार व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार से नवाजा गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि पूर्व जिला प्रमुख मंजू मेघवाल थीं, जबकि अध्यक्षता उपखंड अधिकारी चंपालाल जीनगर ने की। विशिष्ठ अतिथि के नाते मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी अशोककुमार रोहिसवाल व राबाउमावि की प्राचार्य अर्चना थे। कार्यक्रम में मंच संचालन कैलाशसिंह राजपुरोहित ने किया। जिले में 5 इंदिरा प्रियदर्शनी व 117 गार्गी पुरस्कार बालिकाओं को दिए गए। वहीं शेष बालिकाओं को बालिका प्रोत्साहन योजना के तहत पुरस्कृत किया गया।
भीनमाल. शहर के राबाउमावि में बालिका शिक्षा फाउण्डेशन के सहयोग से गत वर्ष बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण प्रतिभाशाली छात्राओं को बसंत पंचमी पर आयोजित समारोह में गार्गी व इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार प्रदान किए गए। पुरस्कार मिलते ही बालिकाओं के चेहरे पर खुशी छा गई। समारोह में उपखंड अधिकारी ओमप्रकाश ने कहा कि बेटियां देश व समाज का गौरव है और शिक्षा के क्षेत्र में कड़ी मेहनत कर आगे बढ़ रही हैं। इरादा मजबूत होता है तो सफलता जरूर मिलती है। लगातार मेहनत करने वाले कभी असफल नहीं होते। एसडीएम ने बालिका शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि कहा एक शिक्षित बालिका दो घरों का नाम रोशन करती है। राज्य सरकार की गार्गी पुरस्कार वितरण योजना से बालिकाओं का हौसला बढ़ता है। उन्होंने बालिकाओं से उच्च शिक्षा प्राप्त कर आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि आज भी जागरूकता के अभाव में ग्रामीण क्षेत्र में बालिका शिक्षा का प्रतिशत कम है। इसके लिए हमें जागरूक होना पड़ेगा। प्रधान किरण भारतीय ने कहा कि शिक्षा के बिना जीवन अधूरा है। गार्गी योजना बालिकाओं के सम्मान की एक अच्छी पहल है। बालिकाओं का सम्मान करने से उनका हौसला बढ़ता है। समय-समय पर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन होना जरूरी है। प्रधानाचार्या कीर्ति वाजपेयी ने कहा कि शिक्षित बालिकाओं से ही शिक्षित समाज का निर्माण होता है। शिक्षित परिवार ही प्रगति के पथ पर अग्रसर होता है। समारोह का संचालन बालिका शिक्षा प्रभारी भागीरथराम ने किया। कार्यक्रम में उपखंड अधिकारी ओमप्रकाश के हाथों 5 बालिकाओं को इन्दिरा प्रियदर्शिनी, 140 बालिकाओं को बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार व 116 को गार्गी पुरुस्कार से सम्मानित गया। इस मौके सीडीपीओ खंगारसिंह, अर्जुनसिंह, मालमसिंह, मंजुलता गोस्वामी, प्रधानाचार्य भगवानाराम, अमृतलाल, शैलेष कुमार व दूदाराम सहित कई लोग मौजूद थे।
आहोर. कस्बे में गार्गी पुरस्कार एवं बालिका प्रोत्साहन वितरण समारोह-2021 का आयोजन मंगलवार को राउमावि के सभागार में कार्यालय मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी आहोर के तत्वावधान व नोडल स्तरीय प्रधानाचार्य जालमसिंह राठौड़ की मौजूदगी में हुआ। जिसमें ब्लॉक की प्रतिभाशाली छात्राओं को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। समारोह में विधायक छगनसिंह राजपुरोहित, प्रधान संतोष कंवर, पीसीसी सदस्य सवाराम पटेल एवं ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष भंवरलाल मेघवाल समेत आतिथियों ने इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार, गार्गी पुरस्कार एवं बालिका प्रोत्साहन की पात्र बालिकाओं को प्रमाण पत्र वितरित किए। अतिथियों ने बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने, बालिका शिक्षा के महत्व एवं राज्य सरकार व केन्द्र सरकार की ओर से प्रदत्त बालिका प्रोत्साहन योजना एवं विभिन्न प्रकार की छात्रवृत्ति योजनाओं के बारे में जानकारी दी। प्रधानाचार्य राठौड़ ने बालिकाओं के लिए विभाग की महत्ती योजनाओं व विभिन्न कक्षा संयंत्रों के लिए प्रदत्त आर्थिक सहयोग की जानकारी दी। मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मनोहरसिंह मेहरू ने सभी का आभार जताया।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned