नवरात्रि में डांडिया के लिए दे दी अनुमति, दिन में गोकथा के लिए आचार संहिता का अड़ंगा

नवरात्रि में डांडिया के लिए दे दी अनुमति, दिन में गोकथा के लिए आचार संहिता का अड़ंगा
Go-katha in Chitalwana sanchore Jalore

Dharmendra Ramawat | Updated: 20 Oct 2018, 11:27:33 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

लाउड स्पीकर की अनुमति नहीं मिलने पर गोभक्तों में रोष

चितलवाना. कस्बे की मध्यवेश्वर महादेव गोशाला में गो-कथा के आयोजन को लेकर प्रशासन की ओर से आचार संहिता का अड़ंगा डाला जा रहा है। जानकारी के अनुसार गोभक्तों की ओर से गोकथा में आयोजन के लिए प्रशासन से लिखित में लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति मांग थी, लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने आचार संहिता का हवाला देते हुए इसकी अनुमति नहीं दी। ऐसे में गोभक्तों ने रोष जताते हुए कलक्टर को ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में गोभक्तों ने बताया कि मध्यवेश्वर माहदेव गोशाला में गायों की सेवा करने के साथ ही गोकथा का आयोजन किया जा रहा है। ऐसे में प्रशासन की ओर से विधानसभा चुनाव के तहत आचार संहिता लागू होने की बात कहते हुए जानबूझकर लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। ऐसे में गोभक्तों ने रोष जताते हुए अनुमति नहीं देने पर प्रशासन के खिलाफ धरना देने की चेतावनी दी है।
गरबों के आयोजन में दी अनुमति
गोभक्तों का कहना था कि कस्बे सहित जिले भर में नवरात्रि महोत्सव के तहत गरबों के आयोजन के लिए प्रशासन की ओर से लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति दी गई, लेकिन गोकथा के आयोजन पर चुनावी आचार संहिता की बात कही जा रही है। गरबों के आयोजन के समय रात में लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति दी गई, जबकि गो कथा दिन में चार घंटे तक ही चलने के बावजूद प्रशासन जान बूझकर अनुमति नहीं दे रहा है।
यहां हो रहा गोकथा का आयोजन
कस्बे की मध्यवेश्वर गोशाला में महाराज धीमाराम की ओर से उनकी खुद की जमीन पर निजी खर्च से गोकथा का आयोजन रविवार से करवाया जा रहा है। ऐसे में प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं देने को लेकर गोभक्तों में रोष है।
इनका कहना....
गोकथा के आयोजन में प्रशासन जान बूझकर आचार संहिता का रोड़ा डाल रहा है। गोकथा का आयोजन नहीं हुआ तो गोभक्तों के साथ प्रशासन के खिलाफ अनशन पर बैठकर प्राण त्याग दूंगा।
- धीमाराम महाराज, मध्यवेश्वर महादेव गोशाला, चितलवाना
चितलवाना स्थित गोशाला में महाराज के भाइयों के जमीनी विवाद को लेकर अनुमति नहीं दी गई है। उच्चाधिकारियों से जो भी निर्देश मिलेंगे पालना की जाएगी।
- हजूरखां, एएसआई, चितलवाना

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned