लियादरा में सात दिवसीय जाम्भाणी हरिकथा का समापन

Dharmendra Ramawat

Updated: 20 Feb 2019, 11:30:06 AM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

सांचौर/चितलवाना. उपखंड क्षेत्र के लियादरा स्थित गुरू जंभेश्वर मंदिर में चल रही सात दिवसीय विराट जाम्भाणी हरिकथा व ज्ञान यज्ञ का मंगलवार को समापन हुआ। सात दिन तक कथावाचक आचार्य गोवर्धनराम शिक्षा शास्त्री ने श्रद्धालुओं को कथा सुनवाई। कथा का समापन हवन, पाहल, धर्मसभा व महाप्रसादी के साथ मंगलवार को हुआ। आचार्य ने हवन कर १२० शब्दों का पाहल बनाया व पर्यावरण शुद्धि के लिए यज्ञ किया। कथावाचक ने समाज में व्याप्त कुरीतियों को मिटाने व नशे से दूर रहने की नसीहत दी। इस मौके राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई ने गुरू महाराज जांभोजी के बताए मार्ग पर चलकर जीवन का कल्याण करने को कहा। उन्होंने कहा पर्यावरण मानव जीवन का हिस्सा है और इसके बिना मानव जीवन सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि परिवार में शिक्षा के साथ संस्कार भी जरूरी है। जब तक परिवार में संस्कार का वातवारण नहीं होगा तब तक युवा पीढ़ी को सही रास्ता नहीं मिलेगा। ऐसे में उन्होंने बालिका शिक्षा पर जोर दिया। धर्म सभा में पूर्व विधायक हीरालाल विश्नोई ने शिक्षा को समाज का अभिन्न अंग बताया। वहीं बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए समाज में चेतना लाने की बात कही। नेता प्रतिपक्ष बीरबल बिश्नोई ने समाज के लोगों को धार्मिक व संस्कारित बनाने के साथ साथ उन्हें ज्ञानवर्धक बातें बताने के लिए हरिकथा व धर्मसभाओं का समय-समय पर आयोजन होनाचाहिए। उन्होंने नशावृत्ति से दूर रहने व प्रतिस्पद्र्धा के युग में युवाओं को उच्च स्तर की तैयारी करने की बात कही। इस मौके खंगाराराम खिलेरी, प्रहलादराम लोमरोड़, जयराम मांजु, राणाराम सियाण, कोहलाराम खोखर, कानाराम सियाग, खीयाराम ईशरवाल, अमराराम, हुकमाराम, पूनमाराम साऊ, पोकराराम साऊ, बाबूलाल सियाक, जेताराम खिलेरी, मोहनलाल रामाणी, तेजाराम साऊ, जयरूपाराम, लाखाराम मांजु, वनाराम लोमरोड़, कालूराम रामाणी, जालाराम, भागीरथराम कुराड़ा, प्रधानाचार्य रूघनाथ खिलेरी, चेलाराम व पप्पूराम सहित कई जने मौजूद थे।
10 लाख से बनेगी चारदीवारी
लियादरा स्थित राउमावि के चारों ओर 10 लाख की लागत से चारदिवारी व ग्रामीणों के पेयजल के लिए आरओ प्लांट लगाया जाएगा। जिसकी घेाषणा वन एवं पर्यावरण मंत्री बिश्नोई ने ग्रामीणों की मांग पर की। जिसके बाद ग्रामीणों ने उनका फूल-मालाओं से अभिनंदन किया।
मंदिर पर चढ़ाई ध्वजा
लियादरा स्थित गुरू जंभेश्वर मंदिर की वर्षी पर आचार्य के सान्निध्य में मंदिर पर ध्वजा चढ़ाई गई। इस मौके कई धार्मिक आयोजन भी हुए। साथ ही वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विभिन्न आयोजन पूर्ण हुए।

बिजरोल खेड़ा खेतेश्वर मंदिर मेले में उमड़े श्रद्धालु
चितलवाना. खेतेश्वर जन्म स्थली बिजरोल खेड़ा स्थित भगवान खेतेश्वर मंदिर में माघ पूर्णिमा पर पुरोहित समाज के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। पूर्णिमा मेले को लेकर मंदिर में दिनभर भगवान के दर्शन के लिए पुरोहित समाज के लोगों का तांता लगा रहा। समाज के श्रद्धालुओं ने मंदिर में हवन कुण्ड में प्रसादी व नारियल की आहुति देकर भगवान से मन्नत मांगी। इस मौके आयोजित धर्म सभा में सांथू मठ के गादीपति स्वामी विष्णुस्वरूप ने समाज को लोगों को नशा नहीं करने, महिलाओं को घर व परिवार के साथ बड़ों का आदर करने की बात कही। पूर्व विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित ने समाज को शिक्षा से जोड़कर ऊपर बढऩे की बात कही। भीनमाल प्रधान धुखाराम पुरोहित ने भगवान के बनाए आदर्शों की पालना करने की बात कही। रमेश पुरोहित ने समाज के लोगों को एकजुट होकर हर काम में आगे आने की बात कही। इस मौके प्रभुदयाल पुरोहित, जसराज वाली, बलवन्ताराम अणखोल व मांगीलाल देवड़ा सहित कई लोग मौजूद थे।
मंत्री ने किए खेतेश्वर मंदिर के दर्शन
वन एवं पर्यायवरण मंत्री विश्नोई ने माघ पूर्णिमा पर खेतेश्वर मंदिर बिजरोल खेड़ा में भगवान खेतेश्वर के दर्शन कर खुशहाली की मन्नत मांगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned