स्कूल में नवाचार.....हम पांचवीं पास से तेज है

एक सरकारी स्कूल में प्राथमिक स्तर तक के बच्चों को गतिविधि आधारित शिक्षण से सामान्य ज्ञान व जीवनोपयोगी जानकारी दी जा रही है।

By: Nain Singh Rajpurohit

Updated: 03 Mar 2019, 12:02 PM IST


जालोर. कौन बनेगा करोड़पति की तर्ज पर जिले के एक सरकारी स्कूल में प्राथमिक स्तर तक के बच्चों को गतिविधि आधारित शिक्षण से सामान्य ज्ञान व जीवनोपयोगी जानकारी दी जा रही है। स्कूल में इस नवाचार का नाम 'हम पांचवीं पास से तेज हैÓ दिया गया है।
आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय ऊण में एक जुलाई २०१८ से यह कार्यक्रम शुरू किया गया था। इसके तहत विद्यालय में हर शनिवार को फन डे के रूप में मनाते हुए बच्चों के सामान्य ज्ञान में वृद्धि को लेकर प्रश्नोत्तरी, कहानियां व अन्य गतिविधियां करवाई जाती है। इस कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को पुस्तकीय ज्ञान के साथ ही सामान्य ज्ञान व जीवन में काम आने वाली बातें सीखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इस से विद्यार्थी कक्षा कक्ष के अलावा विद्यालय की चारदीवारी से बाहर जाकर भी सीख सकता है। इस कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों में सभी विषयों के प्रति रुचि जगाना है। छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रार्थना सभा के साथ ही शनिवार को फन डे पर खेल के माध्यम से प्रश्नोत्तरी की जाती है। जो विद्यार्थी सबसे ज्यादा उत्तर देता है। उसे विजेता घोषित कर पुरस्कृत किया जाता है।ऐसे में पूरे साल में फन डे पर जिस विद्यार्थी को सबसे ज्यादा पुरस्कार मिले होते है। उसे विजेता घोषित कर बड़ा इनाम दिया जाता है। हम पंाचवीं पास तेज कार्यक्रम के तहत कक्षा पांच की काजल कुमारी को स्टार व कक्षा दो की रितिका को स्टार प्लस ग्रेड देकर पुरस्कृत किया गया।
गतिविधि आधारित शिक्षण
यहां कार्ड, माचिस, कप, आइस्क्रीम की डंडी व पेपर समेत बेकार पड़ीअन्य सामग्री से शिक्षण सहायक सामग्री तैयार कर शिक्षण करवाया जाता है। वहीं शॉक्स की सहायता से पपेट बनाकर कहानी शिक्षण भी करवाया जाता है। रोल प्ले के रूप में बेटी पढ़ाओं , बेटी बचाओं का संदेश दिया जाता है।
इनका कहना..
स्कूल में बच्चों की समस्याओं का समाधान करते-करते अपने आप नए आइडिया आने लगते है। गतिविधि आधारित शिक्षण में रुचि रखने वाले शिक्षक शिक्षिकाओंं से बेकार पड़ी सामग्री से उपयोगी शिक्षण सामग्री बनाने की जानकारी शेयर करती हूं।अगर बच्चों को गतिविधि आधारित नवाचार से शिक्षण करवाए तो छात्रों में स्वत: ही रुचि जाग्रत होगी।हम पांचवीं पास से तेज है कार्यक्रम से बच्चों को किताबी ज्ञान के अलावा सामान्य ज्ञान व व्यावहारिक ज्ञान भी मिलता है।
-साजिदा अली सैय्यद, शिक्षिका, आराउमावि ऊण

Nain Singh Rajpurohit Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned