अधूरे विकास कार्यों पर गर्माए जनप्रतिनिधि

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Updated: 08 Dec 2019, 12:16 PM IST

जालोर. जिला परिषद की सामान्य बैठक शनिवार को जिला प्रमुख डॉ. वन्नेसिंह गोहिल की अध्यक्षता, कलक्टर महेन्द्र सोनी, जालोर विधायक जोगश्वर गर्ग, रानीवाड़ा विधायक नारायणसिंह देवल व आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित की उपस्थिति में जिला परिषद सभाकक्ष में हुई। बैठक में बिजली, पानी, सड़क व चिकित्सा सहित विभिन्न मुद्दों पर गहन चर्चा की गई। बैठक में जिला प्रमुख गोहिल ने कहा कि जन प्रतिनिधि अपने क्षेत्र की आमजन से जुड़ी समस्याओं के निराकरण की अपेक्षा के साथ जिला स्तरीय अधिकारियों के पास आते हैं। ऐसे में अधिकारी का नैतिक दायित्व है कि वे इन समस्याओं के निराकरण में जन प्रतिनिधि का पूर्ण सकारात्मक सहयोग करे। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि वे अधूरे विकास कार्यों को भी जल्द पूरा करें। बैठक में कलक्टर सोनी ने कहा कि जिले में सामाजिक सुरक्षा योजना व पालनहार योजना से जुड़े किसी भी व्यक्ति के भुगतान में किसी भी स्तर पर देरी ंनही हो और संबंधित को भुगतान समय पर किया जाए। इसके लिए विशेष कार्य योजना बनाकर कार्य करना होगा। जिले में अपूर्ण विकास कार्यों को गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए वित्तीय वर्ष की समाप्ति से पूर्व पूर्ण किया जाए। जिले में संचालित विभिन्न विकास कार्यों में समयबद्धता का भी विशेष ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान निधि योजना से किसानों को लाभान्वित करने के लिए उनके आधार अपडेशन कार्य को गति दी जाए और सभी विभाग आपस में सामंजस्य के साथ जन हित के कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें। बैठक में सभी विधायकों ने भी अपने-अपने क्षेत्र की विद्युत, जलापूर्ति, चिकित्सा व क्षतिग्रस्त सड़कों सहित विभिन्न विभागों से संबंधित जन समस्याओं के समाधान के लिए ध्यान आकर्षित किया। जिस पर कलक्टर सोनी ने सम्बंधित अधिकारियों को जल्द से जल्द इन समस्याओं के समाधान के लिए निर्देशित किया। जिला परिषद सीईओ अशोक कुमार ने बैठक में रखे जाने वाले विषयों और विभागीय प्रगति के सम्बन्ध में सदन को जानकारी दी। वहीं उप जिला प्रमुख गिरधर कंवर, आहोर प्रधान राजेश्वरी कंवर, भीनमाल प्रधान धुखाराम पुरोहित, सायला प्रधान जबरसिंह, चितलवाना प्रधान हनुमानप्रसाद भादू, सांचौर प्रधान टाबाराम, जिला परिषद सदस्य पवनी देवी व माधोसिंह समेत अन्य ने भी अपने क्षेत्र की जन समस्याओं को रखा। इस अवसर पर एएसपी सत्येन्द्रपाल सिंह, एसीईओ सुरेश कविया, पंचायत समितियों के बीडीओ, जिले के विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी सहित जिला परिषद के सदस्य मौजूद थे। बैठक में पूूर्व एसीईओ रामचंद गरवा के स्थानांतरण पर जिला प्रमुख व कलक्टर ने बहुमान किया।
जिला आयोजना समिति की बैठक हुई
जिला परिषद की सामान्य बैठक के बाद परिषद सभागार में जिला आयोजना समिति की बैठक हुई। जिसमें जिले के लिए कुल 188 सड़कों के प्रस्तावों का अनुमोदन किया गया। जिला प्रमुख गोहिल की अध्यक्षता में हुई बैठक में पीडब्ल्यूडी के कार्यवाहक अधीक्षण अभियंता तेजाराम चौधरी की ओर से प्रस्तुत पंचायत समिति जालोर के लिए 15, आहोर में 21, सायला में 12, भीनमाल में 21, जसवन्तपुरा में 28, रानीवाड़ा में 23, सांचौर में 41 व चितलवाना में 27 सीयुसीपीएल व केंडिडेट सड़कों के प्रस्ताव सदन में पीएमएसएसवाई के अंतर्गत अनुमोदित किए गए। जिसके तहत करीब 2 हजार 251 किमी सड़कों के प्रस्ताव अनुमोदित किए गए।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned