बाकरा में तैयार हुए, कोलकाता में दिखाएंगे दमखम

बाकरा गांव में तैयारी के बाद राजस्थान टीम के 28 जिम्नास्ट अब कोलकाता में दमखम दिखाएंगे

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 10 Nov 2017, 12:53 PM IST

बाकरा (नारणावास). जिले के बाकरा गांव में तैयारी के बाद राजस्थान टीम के 28 जिम्नास्ट अब कोलकाता में दमखम दिखाएंगे। कोलकाता में 14 से 18 नवंबर तक होने वाली 62वीं राष्ट्रीय विद्यालयी जिम्नास्टिक प्रतियोगिता 17 व 19 वर्ष छात्र-छात्रा वर्ग के लिए शुक्रवार को राजस्थान की टीम रवाना हुई। चीफ डे मिशन प्रधानाचार्य रमेशकुमार राव ने बताया कि 19 वर्ष छात्र वर्ग में प्रतीक व्यास भीलवाड़ा, महेंद्रसिंह जोधपुर , नरेन जोधपुर, स्वरूपाराम जोधपुर, सूर्यभानसिंह भाटी भीलवाड़ा, विवेक राय जयपुर व इंद्रजीतसिंह जोधपुर, 19 वर्ष छात्रा वर्ग में पूजा चौधरी नागौर, सोनिया लटियाल नागौर, कौशल्या चौधरी नागौर, चुकादेवी नागौर, रितिका अग्रवाल अजमेर , सुमित्रा मारवाड़ मुड़वा नागौर, 17 वर्ष छात्र वर्ग में उगमसिंह जोधपुर, चन्द्रेश मोहनिया भरतपुर, अंकुर गंडेर जोधपुर, दीपक सैनी अलवर, प्रदीप प्रजापति भरतपुर, देवेन्द्र सैनी अलवर व हरिओम सैनी, 17 वर्ष छात्रा वर्ग में मारवाड़ मुड़वा नागौर से सुरभि पूनिया, सरोज डूडी, कुचामन सिटी नागौर से पूजा कुमावत व नीलम, जोधपुर से मेघाश्री व्यास व प्रियंका शेखावत को राजस्थान जिम्नास्टिक टीम में शामिल किया गया है। टीम के साथ प्रधानचार्य राव, कोच छात्रा टीम यशपालसिंह खींची, मैनेजर जितेन्द्रसिंह चौहान, मैनेजर छात्रा हरेन्द्रसिंह भाटी, मैनेजर छात्र डॉ. भागीरथसिंह भाटी, छात्र कोच डॉ. रमेश इंदोलिया, छात्रा प्रभारी विजेता चौहान व दलप्रबंधक उदयसिंह राठौड़ साथ रहेंगे। अंतिम दिन गुरुवार को जिम्नास्टर्स ने दिन भर अभ्यास किया। वोल्टिंग टेबल पर जिम्नस्टर्स ने शानदार प्रदर्शन किया।
करेंगे पूरा प्रयास
चार बार नेशनल खेल चुके भीलवाड़ा के प्रतीक व्यास ने बताया कि वे पिछली बार गोल्ड मैडलिस्ट रहे थे। इस बार भी मैडल लाने का पूरा प्रयास करेंगे। जोधपुर के शेरगढ़ निवासी उगमसिंह का कहना हैकि यहां ट्रेनिंग में आनंद आया। पिछली बार की तरह इस बार भी वे गोल्ड लाएंगे। प्रतियोगिता की छात्रा वर्ग में अधिकांश खिलाड़ी नागौर से हैं। पूजा बताती हैं कि सोनीपत में राजस्थान का प्रदर्शन पिछले साल बहुत अच्छा रहा।इस बार भी पूरी कोशिश रहेगी कि हम टॉप करें। टीम के कोच यशपालसिंह खींची हैं जो सिरोही के वराड़ा स्कूल में शारीरिक शिक्षक हैं। वे दस साल से नेशनल की टीम ले जाते हैं। इनमें सबसे बेहतरीन टीम इस बार तैयार हुई है। शारीरिक शिक्षक रूपसिंह नारणावास ने बताया कि इस बार विद्यार्थियों को यहां दानदाताओं ने अच्छी सुविधाएं मुहैया करवाई है। लिहाजा खिलाडिय़ों ने बहुत अच्छा अभ्यास किया है और अच्छी टीम तैयार हुई।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned