scriptJoyla's rar is now on the way of protest, the MLA said that the office | jawai river: जोयला की रार अब विरोध के रास्ते, विधायक ने कहा अधिकारी गुमराह करने का कर रहे प्रयास | Patrika News

jawai river: जोयला की रार अब विरोध के रास्ते, विधायक ने कहा अधिकारी गुमराह करने का कर रहे प्रयास

आहोर विधायक ने जनता संग रखी मांग जोयला डायवर्जन का कार्य शीघ्र हो निरस्त, नहीं तो आर-पार होगा जन आंदोलन

जालोर

Published: March 05, 2022 08:18:59 pm

जालोर/ आहोर. जोयला डायवर्जन का मसला बिगड़ता चला जा रहा है और मामले में आहोर विधायक छगनसिंह ने अधिकारियों पर गुमराह करने का आरोप लगाया है। इस महत्वपूर्ण मसले पर पंचायत समिति सभागार में शनिवार को विधायक छगनसिंह राजपुरोहित, कलक्टर नम्रता वृष्णि, सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता जोधपुर समेत विभाग के आला अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों सहित किसान नेताओं की मौजूदगी में जोयला पिकअप वियर को लेकरबैठक आयोजित हुई। बैठक में उपस्थित लोगों द्वारा जोयला डायवर्जन के नुकसान को लेकर तथ्यात्मक अवलोकन किया गया। जिसमें जोयला डायवर्जन की जालोर जिले के नुकसान की रिपोर्ट सरकार तक पहुंचाकर जोयला डायवर्जन को निरस्त करवाने पर चर्चा हुई। इस दौरान विधायक राजपुरोहित ने पूरे प्रोजेक्ट का नोटिस बोर्ड पर नक्शा बनाकर जोयला डायवर्जन बनने के बाद क्या नुकसान होगा उसके बारे में विस्तृत वर्णन कर जोयला डायवर्जन कार्य को निरस्त करने की मांग रखी। इधर, विधायक राजपुरोहित ने जोयला डायवर्जन निरस्त नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।
आहोर विधायक ने जनता संग रखी मांग जोयला डायवर्जन का कार्य शीघ्र हो निरस्त, नहीं तो आर-पार होगा जन आंदोलन
आहोर विधायक ने जनता संग रखी मांग जोयला डायवर्जन का कार्य शीघ्र हो निरस्त, नहीं तो आर-पार होगा जन आंदोलन
पहले ही जवाई बंाध के दंश से जूझ रहे
विधायक राजपुरोहित ने कहा कि किसी भी हालात में जोयला डायवर्जन नहीं बनने देंगे। विधायक राजपुरोहित ने कहा कि आहोर सहित पूरा जालोर जिला जवाई बांध बनने की मार झेल ही रहा था। उसके बाद जवाई नदी व जवाई की सहायक नदी सुकड़ी नदी पर ऐसे कई एनीकट बने। जिससे जालोर जिले को भारी नुकसान पहुंचा है और अब जोयला डायवर्जन बनने के बाद तो पूरा जालोर जिला ही रेगिस्तान में तब्दील हो जाएगा। विधायक राजपुरोहित समेत क्षेत्रवासियों ने किसानों व जालोर जिले के हित में सुकड़ी नदी पर बन रहे जोयला पिकअप वियर नाम की योजना जोयला डायवर्जन को निरस्त किए जाने की मांग की। बैठक में कलक्टर ने इसको लेकर रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेजने की बात कही। बैठक में पीसीसी सदस्य सवाराम पटेल ने कहा कि इसकी जांच के लिए अधिकारियों व विशेषज्ञों की जांच कमेटी बनाई जाए। जो रिपोर्ट पेश करे। वहीं उमसिंह चांदराई ने कहा कि इसकी तकनीकी जांच करवाकर नियमानुसार कार्रवाई की जाए।
इस तरह का संकट, जो भविष्य से खिलवाड़
जालोर जिले से गुजर रही जवाई नदी 1940 तक बारह मासी नदी थी, लेकिन 50 के दशक में जवाई बांध का निर्माण होने के बाद नदी में धीरे धीरे आवक कम होती गई। इसी कड़ी में जवाई नदी के अन्य बहाव क्षेत्रों में छोटे मोटे बांध और एनीकट और बना दिए गए, जिनका समय रहते विरोध नहीं किया गया। जिसका नतीजा यह हुआ है कि औसतन जवाई नदी में एक दशक में ही जवाई नदी में बहाव होता है और वह भी उस स्थिति में जब अतिवृष्टि के बाद जवाई बांध पूरी क्षमता तक भर जाता है। एक तरह से जालोर जिले के किसानों के लिए जवाई बांध अभिशाप है और इसी तरह जोयला डायवर्जन का निर्माण होने से जो थोड़ा बहुत बरसाती पानी नदी बहाव क्षेत्र तक पहुंचता था वह भी अवरुद्ध हो जाता था। इसलिए इसका निर्माण पूरे जिले के लिए नुकसानदायक है।
इनका कहना
जोयला प्रकरण में विशेष बैठक का आयोजन किया गया था। जिसमें स्थानीय जनप्रतिनिधियों, किसानों और ग्रामीणों ने पक्ष और सुझाव दिए हैं। उन सुझावों और प्वाइंट्स को उच्च स्तर पर भेजा जाएगा। जो भी मार्गदर्शन मिलेगा, उसके अनुसार अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
- नम्रता वृष्णि, कलक्टर, जालोर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : शुक्रवार को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानMP में ओबीसी आरक्षण: जिला पंचायत 30, जनपद 20 और सरपंचों को 26 फीसदी आरक्षणInflation Around the World: महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारसावधान! अब हेलमेट पहनने के बावजूद कट सकता है 2 हजार रुपये का चालान, बाइक चलाने से पहले जान लें नया नियमIPL 2022 RR vs CSK: चेन्नई को हरा टॉप 2 में पहुंची राजस्थानIPL 2022 Point Table: गुजरात और राजस्थान ने प्लेऑफ में टॉप 2 में जगह की पक्की, आरसीबी-मुंबई दिल्ली भरोसेबैंक में डाका डालने से पहले चोरों ने की विधिवत पूजा, फिर लॉकर से उड़ा ले गए गहने और कैशOla-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार पर भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.