मांइस पर चलने लगी मशीन तो, ग्रामीणों ने लगाया मुख्य मार्ग पर जाम

भेटाला गांव के पास खनन विभाग की ओर से माइंस आंवटन करने के मामले में ग्रामीणों की ओर से इसे बंद करवाने के बावजूद शनिवार को फिर यहां कार्य शुरू करने पर ग्रामीण भडक़ गए। इस दौरान महिलाओं ने मांइस मालिक की गाड़ी को घेर कर मुख्य सडक़ मार्ग पर काफी देर तक प्रदर्शन किया।

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 24 Jan 2021, 09:55 AM IST

सियाणा. भेटाला गांव के पास खनन विभाग की ओर से माइंस आंवटन करने के मामले में ग्रामीणों की ओर से इसे बंद करवाने के बावजूद शनिवार को फिर यहां कार्य शुरू करने पर ग्रामीण भडक़ गए। इस दौरान महिलाओं ने मांइस मालिक की गाड़ी को घेर कर मुख्य सडक़ मार्ग पर काफी देर तक प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने बताया कि भेटाला गांव में आबादी क्षेत्र के पास मांइस से पहले भी घरों में दरारें आ चुकी है। लोगों के घरों में दिन को भी पत्थर उछल कर आने से लोग चौटिल हो रहे थे। उस समय भी ग्रामीणों ने काफी मशकत कर मांइस को बंद करवाया था। सब कुछ ठीक ठाक चल रहाा था कि खनन विभाग ने सालों बाद फिर से यहां माइंस का आंवटन कर लोगों को परेशानी में डाल दिया। लोगों ने बताया कि आबादी क्षेत्र के अलावा यहां गोशाला व स्कूल होने से हर समय खतरा मंडराता रहता है। मांइस आवंटित होने के बाद ज्यों ही लोगों को जानकारी हुई तो काम रूकवाने गए, लेकिन ठेकेदार नहीं माना। इसके बाद ग्रामीणों ने कुछ दिनों पहले मुख्य मार्ग पर प्रदर्शन किया तो प्रशासन ने पहुंच समझाइश की। वहीं ग्रामीणों ने कलक्टर सहित आला अधिकारियों से मुलाकात कर समस्या से अवगत कराया था। ग्रामीणों के प्रदर्शन के बाद गत दिनों काम बंद करवाया गया था, लेकिन शनिवार को फिर से एलएनटी मशीन के साथ ठेकेदार खुद यहां पहुंचा और कार्य शुरू करवाया। इस पर गांव की महिलाएं, पुरुष व बच्चे भी मौके पर पहुंचे और ठेकेदार की गाड़ी का घेराव कर नारेबाजी करते हुए मार्ग पर जाम लगा दिया। सूचना मिलते ही सियाणा एएसआई होबाराम मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और समझाइश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने। बाद में पुलिस ने मांइस पर लगी एलएनटी मशीन को हटाया और ग्रामीणों ने मार्ग बहाल किया। महिलाओं ने बताया कि किसी भी हालत में यह माइंस शुरू नहीं होने दी जाएगी।
लगा रहा जाम
माइंस शुरू होने की भनक लगते ही लोगों को ढोल बजाकर जानकारी दी गई। ढोल की आवाज सुन ग्रामीण घरों से भागते हुए मांइस के पास पहुंचे और मुख्य मेड़ा ऊपरला-भेटाला सडक़ मार्ग पर जाम लगा दिया। जिससे मार्ग के दोनों तरफ लंबा जाम लग गया। काफी समय बाद पुलिस ने माइंस पर लगी मशीन को हटाया। तब जाकर जाम खुला।
महिलाओं का गुस्सा फूटा
वर्षों से बंद पड़ी माइंस फिर शुरू होने पर महिलाओं का भी गुस्सा फूट पड़ा। जाम में बुजुर्ग महिलाएं भी शामिल थीं। जिनका कहना था कि इस मांइस से ग्रामीणों को खतरा है। पहले भी खतरे के बीच वे कैसे रहे उनका जी जानता है। दीवारों में दरारें व घरों में पत्थर आने से बच्चे चोटिल हुए। वहीं रात रात भर जागना पड़ा।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned