गुजरात की सीमा पर स्टॉक की थी शराब, ऐसे पकड़ में आई

गुजरात की सीमा पर स्टॉक की थी शराब, ऐसे पकड़ में आई

Nain Singh Rajpurohit | Updated: 20 Aug 2019, 11:12:13 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India


आरोपियों ने अपने खेत पर अवैध रूप से भंडारण की गई थी शराब

जालोर/ रानीवाड़ा. जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों से गुजरात तक शराब पहुंचाने की तस्करों की कवायद असफल हो गई। मामले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए करड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत सेवाड़ा में एक कृषि कुएं पर बने एक कमरे से 314 कार्टन हरियाणा निर्मित अवैध शराब बरामद की। शराब की अनुमानित कीमत 15 लाख रुपए बताई जा रही है। घटनाक्रम में रविवार रात को सांकड़ चौकी प्रभारी विनोद पूनिया को शराब स्टॉक की सूचना मिली। इस सूचना के आधार पर करड़ा थाना प्रभारी लालाराम एवं विनोद पूनिया पुलिस जाब्ते के साथ सघन तलाशी के लिए सरहद सेवाड़ा में स्थित अर्जुनसिंह पुत्र दौलतसिंह राजपूत निवासी सेवाड़ा के कृषि कुएं पर दबिश दी। इस दौरान एक कमरे (कच्चा कमरा) की तलाशी ली गई तो उसमें शराब का स्टॉक दिखाई दिया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए हरियाणा निर्मित अवैध अंगे्रजी शराब के 314 कार्टन को जब्त किया। हालांकि मौके का फायदा उठाकर आरोपी अर्जुनसिंह फरार हो गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।
गुजरात से सटे क्षेत्रों में स्टॉक
सीमावर्ती क्षेत्रों में शराब तस्कर गुजरात तक शराब पहुंचाने का प्रयास करते हैं। पुलिस की ओर से इन मामलों में लगातार कार्रवाई की जाती है। लेकिन उसके बाद भी कई मौकों पर तस्कर सफल भी हो जाते हैं। मामले में खास बात यह है कि करड़ा, रानीवाड़ा, सांचौर शराब तस्करी के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्र है। अक्सर इन क्षेत्रों से ही गुजरात तक शराब की तस्करी की जाती आ रही है। चूंकि गुजरात राज्य में शराब पर पाबंदी है इसलिए तस्कर इन क्षेत्रों के रास्ते ही शराब की खेप गुजरात तक पहुंचाने की कोशिश करते हैं।
बाहरी राज्यों से इसलिए शराब तस्करी
राजस्थान से भी गुजरात राज्य को शराब तस्कर शराब पहुंचाने की कवायद करते हैं, क्योंकि वहां अच्छी कमाई मिल जाती है। इसके अलावा तस्कर हरियाणा और चंडीगढ़ निर्मित शराब भी बड़ी मात्रा में तस्करी करते हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि इन राज्यों में शराब पर एक्साइज ड्यूटी कम है। इसलिए राजस्थान के मुकाबले इन राज्यों में उन्हीं शराब के ब्रांड के दाम कम है, जो ब्रांड राजस्थान में उपलब्ध है। गाढ़ी कमाई के चक्कर में शराब तस्कर शराब की बड़ी खेप गुजरात तक पहुंचाने की कोशिश करते हैं।
बड़ा सवाल कहां हो रही चूक
पुलिस ने सेवाड़ा में एक कृषि कुएं से हरियाणा निर्मित शराब का यह स्टॉक जब्त किया है। ऐसे में यह महत्वपूर्ण सवाल है कि आखिर इतनी बड़ी मात्रा में यह शराब यहां तक कैसे पहुंचा। हरियाणा से राजस्थान का बड़ा हिस्सा क्रॉस करते हुए शराब यहां तक कैसे पहुंची और क्या बीच में कहीं भी पुलिस द्वारा संदिग्ध वाहनों की तलाशी नहीं ली गई। सीधे तौर पर यह माना जा सकता है कि यदि अंतिम चरण में करड़ा पुलिस को शराब स्टॉक की इत्तला नहीं मिलती तो सीधे तौर पर यह स्टॉक राजस्थान होते हुए गुजरात तक पहुंच जाता। घटनाक्रम में यह अहम बात है कि शराब तस्कर इतने बड़े नेटवर्क से राजस्थान होते हुए अन्य राज्यों तक शराब की तस्करी कर रहे हैं, लेकिन उसके बाद केवल पुलिस अक्सर अवैध शराब को ही जब्त कर पाती है या शराब के साथ अक्सर एक दो आरोपी गिरफ्त में आते हैं, लेकिन इतने बड़े गिरोह के मुख्य सरगना कभी पकड़ में नहीं आते।
तस्करी के खिलाफ प्रकरण दर्ज
थाना प्रभारी लालाराम ने बताया कि अर्जुनसिंह का आपराधिक रिकार्ड है और इसके खिलाफ शराब तस्करी के प्रकरण दर्ज है। पुलिस का भी मानना है कि सीधे तौर पर यहां से शराब गुजरात राज्य तक पहुंचनी थी। लेकिन उससे पहले ही पुलिस को इत्तला मिल गई।
इनका कहना
पुलिस ने सूचना तंत्र के आधार पर इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए 314 कार्टन हरियाणा निर्मित अवैध शराब जब्त की है। आरोपी की तलाश जारी है।
- हिम्मत अभिलाष टाक, एसपी, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned