कार की चेसिस में बॉक्स बना उसमें अफीम की कर रहे थे तस्करी, 4.80 किलो के साथ चार तस्कर पकड़े

- शुक्रवार देर रात की कार्रवाई, कार की चेसिस में बने बॉक्स से बरामद हुआ अफीम का दूध

By: khushal bhati

Updated: 01 Mar 2020, 10:23 AM IST

जालोर. अफीम तस्करी के मामले में करड़ा पुलिस ने शुक्रवार देर रात को बड़ी कार्रवाई करते हुए 4 किलो 80 ग्राम अफीम का दूध एक कार से बरामद कर चार शातिर तस्करों को गिरफ्तार किया है। तस्करों ने पुलिस को छकाने के लिए अपनी कार की बॉडी में पिछले टायरों के ऊपरी हिस्से को मॉडिफाई करवाते हुए दोनों तरफ बॉक्स बनवा रखे थे, जिसमें अफीम डालकर वे तस्करी करते थे। लेकिन पुलिस ने पड़ताल के बाद गाड़ी के इस हिस्से से अफीम को बरामद कर कार चालक जितेन्द्रसिंह पुत्र प्रभुसिंह राजपूत निवासी वादपुर पुलिस थाना नारायणगढ़ (एमपी), सहित तीन अन्य युवकों विरेन्द्रसिंह पुत्र उदयसिंह राजपूत निवासी तुरकिया पीएस नारायणगढ़, गोविन्दसिंह पुत्र खुमानसिंह राजपूत निवासी कामरिया पुलिस थाना नारायणगढ़, व हरीश परमार पुत्र रामगोपाल नाई निवासी पटेलनगर संजीतनाका मन्दसोर पुलिस थाना वाईडीनगर जिला मन्दसोर को गिरफ्तार कर अफीम का दूध बरामद किया। प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि तस्कर चितौडग़ढ़ से ही अफीम को लेकर पहुंचे थे और उसके बाद इसकी सप्लाई देने वाले थे। लेकिन उससे पहले ही पकड़े गए। पुलिस अब इस गिरोह से जुड़े अन्य तस्करों तक पहुंचने की कोशिश भी कर रही है।
मुखबिरी तंत्र से मिली थी सूचना
अफीम की खेप पहुंचने की सूचना के बाद थाना प्रभारी लालाराम के नेतृत्व में नाकाबंदी की गई। देर रात को भीनमाल की तरफ से आ रही कार के चालक ने पुलिस की नाकाबंदी देखकर कार को भगाने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस जाब्ते ने कार को घेरा लगाकर रुकवा दिया। थाना प्रभारी को इस कार में मादक पदार्थ होने की पूर्व सूचना थी। ऐसे में कार में सवार युवकों को कार में ही बैठे रहने की चेतावनी देने के साथ तलाशी शुरू की गई। कार की तलाशी लेने के साथ कार के पिछले दोनों टायरों के ऊपर के हिस्से में संदिग्ध हिस्सा नजर आया। जिसके बाद टायरों को खुलवाने के साथ कार की तलाशी ली, जिसमें अफीम बरामद हुआ।
पड़ताल में जुटी पुलिस
एसपी हिम्मत अभिलाष का कहना है कि पुलिस मामले में इस बिंदु पर भी पड़ताल कर रही है कि क्या इससे पहले भी इन आरोपियों ने जालोर जिले में तस्करी की है। साथ ही अफीम की तस्करी करने के साथ इसकी सप्लाई कहां होने वाली थी। चूंकि आरोपी मध्यप्रदेश के है तो मामले में पुलिस इस पहलू को ध्यान में रखकर भी जांच कर रही है कि आखिर मध्यप्रदेश से तस्कर जालोर जिले के इस क्षेत्र तक कैसे पहुंचे।

khushal bhati Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned