मॉक ड्रिल : जालोर में परिवहन विभाग के पास मिला कोरोना संक्रमित

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. जिला मुख्यालय स्थित परिवहन विभाग के कार्यालय के निकट बुधवार दोपहर कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से खलबली सी मच गई। वहीं हेल्पलाइन पूर इसकी सूचना मिलने पर चिकित्सा विभाग के अधिकारियों व 108 एंबुलेंस को इसकी सूचना दी गई। जिसके बाद कुछ ही समय में मौके पर एंबुलेंस पहुंची और संक्रमित मरीज को जिला अस्पताल ले जाया गया। दरअसल, कोरोना संक्रमण के चलते आपातकाल सुविधाओं का परीक्षण करने के लिए बुधवार को सीएमएचओ डॉ. गजेन्द्र सिंह देवल के निर्देशानुसार मोक ड्रिल की गई। सीएमएचओ डॉ. देवल ने बताया कि राज्य स्तर से प्राप्त निर्देशों के तहत यह मोक ड्रिल की गई। इस दौरान आपात स्थिति में स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी जा रही सेवाओं का जायजा लिया गया। मोक ड्रिल के दौरान 108 एंबुलेंस व जिला अस्पताल में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी पूर्ण रूप से मुस्तैद दिखे।
इस तरह हुई मोक ड्रिल
बुधवार दोपहर करीब 12 बजे मोक ड्रिल के दौरान परिवहन विभाग के पास एक व्यक्ति को कोरोना संक्रमण के लक्षण बताकर हेल्पलाइन में कॉल कर जानकारी दी गई। जिसके बाद कुछ ही समय में 108 एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्ति को जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां स्वास्थ्यकर्मियों ने तत्परता दिखाते हुए आपात स्थिति में व्यक्ति को सोडियम हाइपो क्लोराइड से सेनेटाइज किया गया। इसके बाद जांच व उपचार शुरू कर आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया। इस आपात स्थिति में स्वास्थ्यकर्मी व आपताकाल सुविधाएं मुस्तैद नजर आई।
कोरोना कोर ग्रुप की बैठक हुई
स्वास्थ्य भवन में बुधवार को कोरोना कोर ग्रुप की बैठक का आयोजन निदेशालय से नियुक्त जिला प्रभारी डॉ. आरके शर्मा व सीएमएचओ डॉ. देवल की अध्यक्षता में किया गया। बैठक में जिले में 11 क्वारेंटाइन सेंटर्स पर सुपरवाइजर नियुक्त किए गए, जो आगामी आदेशों तक नियमित क्वारेंटाइन सेंटर की कार्य व्यवस्था संभालेंगे।
अब तक जिले के सभी सेम्पल नेगेटिव
सीएमएचओ डॉ. देवल ने बताया कि जिले में संभावित कोरोना संक्रमण की जांच के लिए बुधवार तक कुल 19 सेंपल लिए गए हैं। जिनमें से 15 सेम्पल एसएन मेडिकल कॉलेज जोधपुर भेजे गए और सभी सेम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। शेष चार सेम्पल बुधवार को जोधपुर भिजवाए गए हैं।
अब तक दो लाख लोगों की स्क्रीनिंग
जिले में गठित चिकित्सा दलों की ओर से घर-घर जाकर अब तक कुल 1 लाख 93 हजार 238 से अधिक लोगो की स्क्रीनिंग की गई है। चिकित्सा दलों की ओर से स्क्रीनिंग कर आमजन को कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण, बचाव व रोकथाम की जानकारी भी दी जा रही है। साथ ही संभावित कोरोना संक्रमित की सूचना जिला हैल्पलाइन 02973-222246 पर देने को कहा जा रहा है।
81 लोग होम आइसोलेटेड
डिप्टी सीएमएचओ डॉ. एसके चौहान ने बताया कि जिले में अब तक विदेशों व कोरोना प्रभावित क्षेत्रों से आए कुल 87 प्रवासियों को होम आइसोलेट किया गया था। जिनमें से 6 लोगों के आइसोलेशन दिवस पूर्ण हो चुके हैं। जिले में आए प्रवासियों को 28 दिन तक घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी गई। वहीं होम आइसोलेट किए गए घर के बाहर होम आइसोलेट का पोस्टर प्रर्दशित किया जा रहा है। संबंधित चिकित्सा विभाग के दल की ओर से उन व्यक्तियों का प्रतिदिन नियमित रूप से फॉलोअप लेकर मॉनीटरिंग की जा रही है।
मोबाइल से मिलेगा राशन
इधर, कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने लॉक डाउन की स्थिति में नागरिकों को उचित मूल्य पर खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाने के लिए उपभोक्ता भण्डार की दो मोबाइल वेन को कलेक्ट्रेट से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। सीईओ अशोक कुमार ने बताया कि इस वेन से कार्मिक पब्लिक एड्रेस सिस्टम के जरिए मौहल्लों व बस्तियों में आटा, दाल, चावल, शक्कर, चाय पत्ती, बिस्किट, तेल, आलू, प्याज, साबुन, वाशिंग पाउडर, पेस्ट, मिर्ची पाउडर, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, नमक, जीरा व राई आदि खाद्य वस्तुएं उचित मूल्य पर दी जाएगी।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned