सर्वाधिक पसंदीदा गुजरात सीमा नहीं सायला, दोयम दर्जे का रेवत

गुजरात सीमा पर शराब की जबरदस्त बिकवाली और बॉर्डर से सटी दुकानों के प्रति ठेकेदारों का ज्यादा रूझान रहने की बात एक तरह से झूठी साबित हो रही है। आबकारी बंंदोबस्त के तहत सर्वाधिक आवेदन प्राप्त करने वाली दुकान सायला की है

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 03 Mar 2019, 01:29 PM IST

जालोर. गुजरात सीमा पर शराब की जबरदस्त बिकवाली और बॉर्डर से सटी दुकानों के प्रति ठेकेदारों का ज्यादा रूझान रहने की बात एक तरह से झूठी साबित हो रही है। आबकारी बंंदोबस्त के तहत सर्वाधिक आवेदन प्राप्त करने वाली दुकान सायला की है। जी हां, जालोर विधानसभा क्षेत्र में शामिल सायला उपखंड मुख्यालय पर सभी की नजर रही। इस दुकान के लिए जिले में सर्वाधिक आवेदन जमा हुए हैं। वैसे सायला कस्बा न तो गुजरात सीमा से सटा है और न ही इस पर बाहरी ठेकेदारों की नजर रहती है। शराब बिक्री के लिहाज से सायला की दुकान काफी अच्छी मानी गई है। इस दुकान के लिए जिले में सबसे ज्यादा आवेदन जमा हुए हैं। वहीं जालोर मुख्यालय से सटे रेवत गांव के समूह को सबसे दोयम दर्जे का माना गया है। इस समूह में संचालित दुकान अपेक्षाकृत कम मुनाफे की मानी जा रही है, जिससे आवेदकों ने भी ज्यादा रुचि नहीं ली।
इन गांवों को भी करते हैं पसंद
बिक्री के लिहाज से देसी शराब के समूहों में सायला को सर्वाधिक पसंदीदा समूह माना गया है। आमतौर पर गुजरात बॉर्डर से सटे गांवों की दुकानों पर भी ठेकेदारों की नजर रहती है। साथ ही जालोर से सटे आहोर-भैंसवाड़ा, भाद्राजून, भागली, आकोली, दांतलावास आदि गांवों की दुकानें बिक्री के लिहाज से अच्छी मानी गई है। रानीवाड़ा व सांचौर ब्लॉक में भी कुछ दुकानों पर ठेकेदारों की ज्यादा रुचि रहती है।

jalore ::: https://goo.gl/PsUSXr::: आबकारी ने लॉटरी प्रक्रिया में अब तक कमाए इतने करोड़

आज शाम तक जमा होगी कॉपी
आबकारी महकमे में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया लगातार बढ़ाई गई है। आवेदकों का रूझान बढऩे से तिथि में भी वृद्धि की जाती रही। आबकारी निरीक्षक ईश्वरसिंह चौहान ने बताया कि ऑनलाइन जमा हुए आवेदनों की प्रिंटेड कॉपी भी जमा करने का सिलसिला बना रहा। 5 मार्च को लॉटरी प्रक्रिया से दुकानों व समूहों का आवंटन किया जाएगा।

jalore::: https://goo.gl/29N2d8::: लोगों की सेहत से किया खिलवाड़ तो पड़ा कानून का डंडा


अभी तक अर्जित किए 30 करोड़
आबकारी बंदोबस्त के तहत महकमे ने आवेदनों से ही करीब 30 करोड़ रुपए अर्जित कर लिए हैं। प्रिटेड कॉपी जमा होने के बाद राजकोष में और वृद्धि होने की उम्मीद है। ऐसे में यह आंकड़ा तीस करोड़ के पार जाने का अनुमान है।

jalore ::: https://goo.gl/W2r4Cf::: केंद्रीय राज्यमंत्री के दौरे का जालोर में नहीं दिखा जोश

सायला में सर्वाधिक...
सायला के लिए सर्वाधिक आवेदन आए हैं। आवेदनों से महकमे को अभी तक लगभग 30 करोड़ रुपए की आय हुई है। बंदोबस्त के तहत 5 मार्च को लॉटरी प्रक्रिया से दुकानों व समूहों का आवंटन किया जाएगा।
- विनोद वैष्णव, जिला आबकारी अधिकारी, जालोर

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned