पानी की मांग को लेकर गुजरात सरकार के साथ नर्मदा चीफ की बैठक

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 27 Nov 2019, 11:06 AM IST

सांचौर. नर्मदा नहर परियोजना की मुख्य कैनाल में राज्य के हिस्से का पानी छोडऩे के मुद्दे को लेकर गुजरात सरकार के अधिकारियों के साथ नर्मदा मुख्य अभियंता गिरीश अरोड़ा के नेतृत्व में गांधीनगर में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान के हिस्से का पूरा पानी छोडऩे पर चर्चा की गई। इस दौरान गुजरात सरकार के अधिकारियों ने वर्तमान परिस्थिति में गुजरात सीमा में नर्मदा मुख्य कैनाल टूटर होने से राज्य के हिस्से का पूरा पानी देने में असमर्थता जताई। इसको लेकर मुख्य अभियंता ने प्रस्तुति के आधार पर रणनीति बनाने के लिए स्थानीय अधिकारियों से बातचीत की। वहीं क्षेत्र में सियालू सीजन में पानी की मांग को देखते हुए नर्मदा चीफ अभियंता लोड़ा के साथ गुजरात के अधिकारियों की बैठक समाचार लिखे जाने तक जारी थी। वहीं गुजरात में नर्मदा मुख्य कैनाल टूटी होने से पर्याप्त पानी की आवक नहीं होने के कारण क्षेत्र में सिंचाई के लिए किसानों के सामने समस्या खड़ी होने की संभावना जताई जा रही है।
नर्मदा जल वितरण समिति की बैठक आज
नर्मदा नहर परियोजना के डिग्गी अध्यक्ष जल वितरण समिति की बैठक बुधवार को नर्मदा मुख्यालय पर होगी। नर्मदा नहर परियोजना के मुख्य अभियंता ने बताया कि बैठक में गुजरात से कम पानी आवक को लेकर बाराबंदी को लेकर रणनीति बनाई जाएगी। जिसमे सभी डिग्गी अध्यक्षों को अनिवार्य रूप से बैठक में भाग लेने का आह्वान किया है।
चौरा माइनर में पानी छोडऩे की मांग
सांचौर. जाखल ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन देकर चौरा माइनर में पानी छोडऩे की मांग की। जाखल पंचायत के पूर्व सरपंच रामावतार मांजू के नेतृत्व में सौंपे ज्ञापन में बताया कि क्षेत्र के किसानों को टेल तक पानी नहीं मिल रहा है। जिससे किसान खेती नहीं कर पा रहे हैं। जिससे किसानों में रोष है। किसानों ने बताया कि विभागीय अधिकारियों को कई बार अवगत करवाया गया, लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। इस दौरान किसानों ने वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई के कार्यालय पर जाकर ज्ञापन दिया।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned