घटिया निर्माण से फिर साइफन में आई दरार, लीकेज पानी ने लिया नदी का रूप

Dharmendra Ramawat | Publish: Oct, 21 2018 11:34:41 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

समय पर नहीं हुई मरम्मत तो किसानों को रबी सीजन में बुवाई से होना पड़ सकता है वंचित

जैताराम विश्नोई

चितलवाना. जालोर-बाड़मेर सीमा पर नर्मदा मुख्य नहर के सुकड़ी व लूनी नदी के बहाव में बने साइफन में पानी आते ही एक बार फिर दरारें आ गई है। जिससे साइफन से बह रहे पानी ने नदी का रूप ले लिया है। सूचना पर एकबारगी नर्मदा अधिकारियों ने पानी की सप्लाई जरूर कम करवा दी, लेकिन साइफन में दरारें ज्यादा होने से पानी का बहवा अभी भी जारी है। इधर, नहर के किनारे पानी के वेग से रास्ता बंद हो जाने और नदी के आस पास के गांवों में अचानक पूरे वेग से पानी आने के बाद नर्मदा अधिकारियों ने बाड़मेर की ओर जाने वाला पानी कम करवाया। गौरतलब है कि नर्मदा मुख्य नहर की जालोर-बाड़मेर सीमा पर बना यह साइफन पूर्व में भी वर्ष 2009 के दौरान घटिया निर्माण के चलते टूट गया था। जिसके बाद इसे ठीक तो करवाया गया, लेकिन मरम्मत में लीपापोती के चलते कई दिनों तक साइफन से पानी लीकेज होता रहा। ऐसे में इस बार नहर में अधिक पानी छोडऩे पर फिर से दरार आते ही साइफन से नदी के रुप में पानी बहने लगा।
रबी बुवाई का संकट
गौरतलब है कि पिछले साल किसानों को क्षेत्र में बाढ़ के हालात के कारण नहर में पानी नहीं आने बुवाई से वंचित रहना पड़ा था। वहीं इस साल में साइफन में दरार आने से एक बार फिर किसानों को बुवाई को लेकर चिंता खाए जा रही है।
लग सकता है समय...
नर्मदा मुख्य नहर के साइफन में दरार आने के बाद विभाग की ओर से इसे ठीक करवाने में समय भी लग सकता है। ऐसे में बुआई का समय नजदीक आने से किसानों के लिए असमंजस की स्थिती बनी हुई है। किसानों को कई दिनों तक साइफन के ठीक होने का इंतजार करना पड़ सकता है।
अधिकारी बने अनजान
नर्मदा नहर के साइफन में दरार आने व साइफन से नदी में पानी बहने की सूचना ग्रामीणों ने नर्मदा अधिकारियों को दे दी थी। जिसके बाद नहर में पानी कम कर दिया गया, लेकिन अब अधिकारी इससे अनजान बनकर किसानों की रबी की सीजन में रोड़ा डाल रहे हैं।
तीन कम्पनियों ने छोड़ा था काम...
नर्मदा मुख्य नहर पर साइफन के निर्माण के दौरान नदी में रिसाव का पानी आने से तीन कम्पनियों ने काम को बीच में ही छोड़ दिया था। जिसके बाद विभाग ने बड़ी मशक्कत कर साइफन को तैयार करवाया था।
इनका कहना...
पंद्रह दिन पहले तो साइफन से पानी नहीं निकल रहा था। अभी की स्थिति के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है। इस बारे में जानकारी ली जाएगी।
- रघुवीरसिंह सुमन, एक्सईएन, नर्मदा नहर परियोजना, सांचौर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned