पुलिस को छकाने के लिए तस्कर इजाद कर रहे नित नए तरीके, पैनी नजर से नहीं बच पा रहे

यह पहला मौका नहीं जब तस्करों ने पुलिस से बचने को कुछ नया किया हो, इससे पहले भी तस्करों ने किए हैं चौंकाने वाले कारनामे

By: khushal bhati

Updated: 01 Mar 2020, 10:30 AM IST

खुशालसिंह भाटी


जालोर. तस्करी के काले कारोबार में गाढ़ी कमाई के लालच में तस्कर ऐसे ऐसे पैंतरे इजाद कर रहे हैं, जिससे पुलिस महकमा खुद चकित है। पिछले एक साल की बात करें तो जालोर जिले में यह तीसरा मामला है, जिसमें पुलिस ने मुखबिरी तंत्र के बूते ऐसी कार्रवाई को अंजाम दिया, जिसमें तस्करों ने पुलिस ने बचने के पूरे प्रबंध किए थे। लेकिन पुलिस ने अपने स्तर पर तस्करी में प्रयुक्त वाहन को पूरा खंगाला और कई घंटों की मशक्कत के बाद तस्करी में प्रयुक्त इस वाहन से अफीम का दूध बरामद किया। इस मामले में पुलिस को तस्करों ने गुमराह करने की पूरी कोशिश की, लेकिन उनकी एक नहीं चली। कड़ी पूछताछ के बाद पिछले टायरों के पास का हिस्सा संदिग्ध लगने पर उसकी जांच की गई तो उसमें अफीम की बरामदगी हो गई।
टै्र्रक्टर के टायर से बरामद हुआ था डोडा
यह पहला मौका नहीं है, जबकि तस्करों ने पुलिस ने बचने को कुछ नया किया हो। इससे पहले अगस्त 2019 को सांचौर पुलिस ने इसी तरह से बड़ी कार्रवाई की थी। जिसमें धानेरा से सांचौर की तरफ आते हुए दो ट्रेक्टर को रुकवाकर उसकी तलाशी ली थी। इन ट्रेक्टरों के पिछले टायरों को ट्यूबवैल कर उसमें से 127 किलो डोडा बरामद किया गया था। इसमें दो आरोपियों को पकड़ा गया था।
पेट्रोल टैंकर से मिला 11 क्विंटल डोडा
इसी साल 8 फरवरी को मांडवला टोल नाके के पास पुलिस ने अब तक की बड़ी कार्रवाई करते हुए एक पेट्रोल टैंकर की टंकी से 1162 किलो अवैध डोडा पोस्त बरामद किया। मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। यह डोडा बाड़मेर तक पहुंचाया जाना था।
टे्रन से पकड़ी गई थी शराब
14 अक्टूबर 2019 को पुलिस द्वारा पिछले दो सालों में जालोर में मुख्य रूप से अवैध डोडा को पकड़ा है। इसके अलावा अवैध शराब के भी प्रकरण दर्ज हुए। इसमें पुलिस ने एक तस्कर को जोधपुर-गांधीधाम टे्रन से पकड़ा था। यह तस्कर थैले में शराब डालकर अवैध रूप से गुजरात राज्य तक पहुंचाने के लिए चढ़ा था।
इनका कहना
तस्करी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं मुखबिरी तंत्र से मिली सूचनाओं पर भी गंभीरता से कार्य हो रहा हैं। यहीं कारण है कि तस्करी पर अंकुश लगाने के मामले में बड़ी सफलता मिली है।
- हिम्मत अभिलाष, एसपी, जालोर

khushal bhati Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned