मनरेगा कार्यस्थल पर नहीं मिले श्रमिक, वीडीओ व रोजगार सहायक को नोटिस

www.patrika.com/rajasthan.news

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 05 Sep 2019, 01:13 PM IST

अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने किया निरीक्षण, अपूर्ण कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश

जालोर. मनरेगा कार्य स्थल पर श्रमिकों की उपस्थिति नहीं मिलने पर ग्राम विकास अधिकारी व रोजगार सहायक को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। बुधवार को अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामचन्द्र गरवा ने आहोर व जालोर पंचायत समिति क्षेत्र में विभिन्न ग्राम पंचायतों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान अपूर्ण कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।
उन्होंने लेटा व सांकरणा ग्राम पंचायत में जल शक्ति अभियान के तहत वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम एवं आईईसी शौचालयों को पूर्ण करने के निर्देश दिए। गोदन ग्राम पंचायत में मनरेगा कार्य निरीक्षण के दौरान चारागाह विकास कार्य के लिए जारी मस्टररोल के अनुसार महात्मा गांधी नरेगा कार्यों पर श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध नहीं करवाया गया तथा ग्राम विकास अधिकारी कैलाशचन्द्र मीना से पूछने पर श्रमिकों का कार्य पर नहीं आना बताया गया। अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए ग्राम विकास अधिकारी कैलाशचन्द्र मीना एवं रोजगार सहायिका रामेश्वरी विश्नोई को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। आहोर पंचायत समिति की भैंसवाड़ा ग्राम पंचायत के चारागाह विकास कार्य के निरीक्षण के दौरान 120 श्रमिकों में से 42 श्रमिक उपस्थित मिले।


सही नहीं मिला सोख्ता गड्ढा
उन्होंने जल शक्ति अभियान के तहत सोख्ता गडडा का निरीक्षण किया जो निर्धारित मापदण्ड के अनुसार सही नहीं पाए जाने पर उसे पुन: व्यवस्थित तरीके से बनाने एवं आईईसी शौचालयों को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम पंचायत आहोर के आईईसी शौचालयों, सोख्ता गड्ढों का निर्माण करवाने एवं तालाब के पास मुख्य मार्ग पर पानी भरा होने की निकासी करवाने के सख्त निर्देश दिए।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned