लॉकडाउन के बावजूद 65 मजदूरों से करवाया जा रहा था काम, तहसीलदार ने बंद करवाया

www.patrika.com/rajasthan-news

चितलवाना. कोरोना वायरस को लेकर पूरा देश जूझ रहा है, लेकिन क्षेत्र के तातड़ा गांव में तेल की खोज करने वाली कम्पनी की ओर से बाड़मेर से मजदूर लाकर कार्य करवाया जा रहा है। ऐसे में प्रशासन को इसकी जानकारी मिलने के बाद अधिकारियों ने सख्ती दिखाते हुए कंपनी प्रतिनिधियों को मंगलवार को नोटिस थमाया। जिसके बाद काम बंद किया गया। गौरतलब है कि झाब थाना क्षेत्र के तातड़ा गांव की सरहद में तेल खोज की निजी कम्पनी की ओर से बाड़मेर से मजदूर बुलवाकर कुआं खुदवाया जा रहा था। ऐसे में पत्रिका के 24 मार्च के अंक में 'लॉकडाउन के बाद बावजूद तेल खोज कम्पनी करवा रही मजदूरों से कामÓ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया। जिसके बाद प्रशासन हरकत में आया और हल्का पटवारी की रिपोर्ट पर तहसीलदार नगाराम गुर्जर ने मौके पर जाकर कार्य को बंद करवाया। वहीं कम्पनी के अधिकारियों को नोटिस थमा कर कार्य को बंद रखने की हिदायत दी गई।
65 श्रमिक काम करते मिले
प्रशासन की ओर से हल्का पटवारी से रिपोर्ट मंगवाने के बाद मौका मुआवना किया गया। जिस पर बाड़मेर से लाए गए 65 श्रमिक मौके पर काम करते हुए मिले। ऐसे में प्रशासन की ओर से पटवारी की रिपोर्ट पर नोटिस देकर कार्य को बंद करवाने का आदेश दिया गया।
इनका कहना....
तातड़ा सरहद में तेल खोज की निजी कम्पनी की ओर मजदूरों से काम करवाया जा रहा था। जिसकी सूचना पर मौके पर गए थे। जहां 65 श्रमिक कार्य करते मिले। जिसकी सूचना उच्चाधिकारियों को देने पर तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर कंपनी प्रतिनिधियों को नोटिस दिया है। साथ ही कार्य को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं।
- कैलाश डउकिया, पटवारी ईटादा

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned