योजना के तहत 2 हजार से ज्यादा ने किया था आवेदन, अब तक मिला कुछ नहीं

Dharmendra Ramawat

Updated: 02 Feb 2019, 11:57:22 AM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

धर्मेन्द्र रामावत
जालोर. प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत कमजोर आय वर्ग के लोगों को आवास निर्माण या अभिवृद्धि के लिए डेढ़ लाख रुपए तक के अनुदान देने की योजना एक साल बीतने के बाद भी महज कागजों तक ही सिमट कर रह गई है। जिले की तीनों नगर निकायों में योजना के तहत नवम्बर 2017 में केंद्रीय अनुदान उपलब्ध कराने के लिए डीएलबी डायरेक्टर एवं संयुक्त सचिव पवन अरोड़ा ने लाभार्थियों की सूचना मांगी थी। इसके बाद जालोर, भीनमाल और सांचौर नगरपालिका क्षेत्र के दो हजार से ज्यादा जरूरतमंद लोगों ने इस योजना को फायदेमंद मानते हुए आवेदन भी किए, लेकिन हकीकत यह है कि करीब 14 महीने बीतने के बावजूद एक भी व्यक्ति को इस योजना के तहत फूटी कौड़ी तक नसीब नहीं हो पाई है। इस प्रक्रिया में किस स्तर पर क्या कमी रही, इसका जवाब देने वाला तक कोई नहीं है। जिले की सांचौर और भीनमाल नगर पालिका में पत्रावलियां स्वीकृत जरूर हुई, लेकिन इन निकायों में बजट आवंटित नहीं हो पाने के कारण कहीं भी किसी भी व्यक्ति को व्यक्तिगत आवास निर्माण के लिए एक रुपया तक नहीं मिला है।
30 करोड़ के बजट का इंतजार
जालोर नगरपरिषद में प्राप्त 166 आवेदनों में से सर्वे व जांच के बाद 81 आवेदन स्वीकृति के लिए भेजे गए थे। भीनमाल नगरपालिका क्षेत्र में प्राप्त कुल 231 आवेदनों को स्वीकृति के लिए भेजा गया और इनमें से 176 आवेदन स्वीकृत भी कर लिए गए। वहीं सांचौर में प्राप्त सभी 1690 आवेदन स्वीकृति के लिए भेजे गए। जिसके बाद प्रथम चरण में 566 पत्रावलियां स्वीकृत की गईं। इसके बाद दूसरे चरण की कार्यवाही होगी। इन स्वीकृत पत्रावलियों की सूची भीनमाल व सांचौर नगर निकायों को प्राप्त भी हो चुकी है, लेकिन यहां अभी तक इसके लिए बजट का एक रुपया भी आवंटित नहीं हुआ है। इस तरह तीनों निकायों में 1992 पत्रावलियों के लिए स्वीकृति जारी होती है तो प्रत्येक के डेढ़ लाख के हिसाब से करीब 29 करोड़ 88 लाख का बजट मिलेगा। जिससे लोग आवास का निर्माण कर सकेंगे।

सांचौर में सर्वाधिक आवेदन
प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत जिले की तीनों नगर निकायों में से सर्वाधित आवेदन सांचौर नगरपालिका क्षेत्र से प्राप्त हुए। सांचौर से कुल 1690 लोगों ने इसके लिए आवेदन किया। वहीं जालोर से 166 व भीनमाल से 231 लोगों ने आवेदन किया, लेकिन अब तक किसी को भी योजना के तहत राशि नहीं मिल पाई है।
पट्टाशुदा प्लॉट और 3 लाख से कम आय जरूरी
योजना के तहत नगर निकाय क्षेत्र में पट्टाशुदा प्लॉट और सालाना 3 लाख रुपए से कम आय होने पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्र लोगों को व्यक्तिगत आवास के लिए करीब डेढ़ लाख रुपए तक का अनुदान दिया जाना था।
इनका कहना...
जालोर नगरपरिषद में योजना के तहत कुल 166 आवेदन आए थे। जिनमें से सर्वे के बाद 81 पत्रावलियां स्वीकृति के लिए आगे भिजवाई गई थी। बाकी आवेदन अपूर्ण व खामियों के कारण सर्वे के बाद निरस्त हुए थे। स्वीकृत पत्रावलियों के बारे में हमारे पास अब तक कोई जानकारी नहीं पहुंची है और ना ही इसके लिए अब तक बजट मिला है।
- चम्पालाल, योजना प्रभारी, नगरपरिषद जालोर
भीनमाल नगरपालिका में योजना के तहत कुल 231 आवेदन आए थे। जिनमें से सर्वे के बाद 221 पत्रावलियां स्वीकृति के लिए आगे भिजवाई गई थी। जिनमें से 176 पत्रावलियों की स्वीकृति हुई है, लेकिन अब तक हमें बजट नहीं मिलने के कारण भुगतान नहीं हो पाया है। बाकी आवेदन अपूर्ण व खामियों के कारण निरस्त हुए हैं।
- प्रेमाराम चौधरी, जेईएन, नगरपालिका भीनमाल
सांचौर नगरपालिका में योजना के तहत प्राप्त सभी 1690 आवेदन समय की कमी के कारण हमने आगे भिजवा दिए थे। सर्वे टीम ने प्रथम चरण में 566 आवेदन स्वीकृत किए हैं, लेकिन अब तक बजट नहीं मिला है। बजट मिलते ही किश्त की राशि पात्र लोगों के खाते में जमा करवाई जाएगी।
- रमेश सुंदेशा, जेईएन, नगरपरिषद सांचौर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned