महिला को चढ़ा रखी थी ड्रिप, टीम ने मारा छापा तो संचालक फरार

महिला को चढ़ा रखी थी ड्रिप, टीम ने मारा छापा तो संचालक फरार

Dharmendra Kumar Ramawat | Publish: Jan, 13 2018 11:49:06 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

आकोली में फर्जी तरीके से चल रहे क्लीनिक से जब्त की दवाइयां

जालोर/सियाणा. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शुक्रवार शाम आकोली गांव में फर्जी तरीके से चल रहे निजी क्लीनिक पर छापा मारकर दवाइयां जब्त की।मौके पर एक महिला का उपचार चल रहा था, लेकिन टीम आने से पहले ही संचालक फरार हो गया। टीम ने कागजी कार्रवाई के बाद बागरा थाने में मुकदमा दर्ज करवाया। ब्लॉक सीएमओ डॉ.रतनलाल उदेनिया ने बताया कि आकोली गांव में फर्जी तरीके से क्लीनिक चलाए जाने की शिकायत मिलने पर ब्लॉक स्तरीय टीम गठित की गई। गांव में खेराजराम रैगर अवैध रूप से क्लीनिक चला रहा था। कार्रवाई के दौरान भी एक महिला को ड्रिप चढ़ रही थी। क्लीनिक संचालक नदारद था।ऐसे में टीम में शामिल चिकित्सकों ने महिला की ड्रिप निकाली। क्लीनिक में रखी दवाइयां जब्त कर ली गई। बाद में संचालक खेराजराम रैगर के खिलाफ पुलिस थाने में रिपोर्ट दी गई।मौके पर मिली महिला के उपचार की पर्ची एवं अन्य दस्तावेज भी जब्त किए गए।इस दौरान डॉ प्रमोद रावल, औषधि नियंत्रण अधिकारी पंकज गहलोत, नायब तहसीलदार पुखराज मीणा, आरआई हिम्मताराम साथ रहे।
...तो उसे भनक कैसे लगी
टीम की कार्रवाई से ऐन पहले ही संचालक अपने क्लीनिक में भर्ती रखे मरीज को छोड़ कर फरार हो गया।जाहिर है किसी तरह उसे यह सूचना मिल चुकी थी।उधर, बीसीएमओ बताते हैं कि कार्रवाई पूरी तरह गोपनीय रखी गई थी। ऐसे में संचालक का ऐन वक्त पर फरार हो जाना कुछऔर ही बताता है।
आकोली सरपंच का है पति
गौरतलब है कि पुलिस और चिकित्सा विभाग की ओर से शुक्रवार को जिस क्लीनिक पर छापा मार कार्रवाई की है, वह क्लीनिक आकोली सरपंच के पति का है।
द्वेषतावश की है कार्रवाई
मैं खुद पेशे से मेल नर्स प्रथम हूं और वर्ष 2000 में सेवड़ी में मेरे नाम से पैट्रोल पम्प खुलने के कारण मैंने वीआरएस ले लिया था। शुक्रवार को एक महिला घर पर आई थी और जालोर के डॉक्टर ने जो उसे ड्रिप लिखी थी, वही मैंने चढ़ाई थी। विभाग ने जो दवाएं पकड़ी थी वे सारे सैम्पल थे। मेरा कोई अलग से क्लीनिक नहीं है। घर पर कोई भी मरीज आता है तो उसका प्राथमिक उपचार करना मेरा फर्ज है।
- खेराजराम रैगर, मेल नर्स प्रथम, आरोपित

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned