एक साल से पंचायत सहायक के भरोसे प्राथमिक विद्यालय

एक साल से पंचायत सहायक के भरोसे प्राथमिक विद्यालय
Primary school depend on panchayat assistant from one year in Mengalwa

Dharmendra Ramawat | Publish: Jul, 06 2018 11:00:09 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

सायला पंचायत समिति की बावतरा पंचायत स्थित सांवलाई नाडी विद्यालय का मामला

मेंगलवा. राज्य सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई जतन कर रही रही है। सरकारी विद्यालयों में नामांकन बढ़ाने के लिए प्रवेशोत्सव के तहत लोगों को सरकारी स्कूलों में मिलने वाली सुविधाओं व स्कूल की उपलब्धियों से अवगत करवाया जा रहा है। बावजूद इसके क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल में शिक्षकों के अभाव में विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं मिल पा रही है। सायला पंचायत समिति के बावतरा ग्राम पंचायत का राजकीय प्राथमिक विद्यालय सांवलाई नाडी विद्यालय एक साल से एक पंचायत सहायक के भरोसे चल रहा है। यहां कार्यरत शिक्षक का स्थानान्तरण होने के बाद यहां पंचायत सहायक को लगाया गया था। एक साल बीत जाने के बाद भी इस विद्यालय में स्थाई शिक्षक नहीं लगने से विद्यार्थियों को भविष्य अंधकार में है। इधर, विद्यालय में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं के अभिभावक भी इस समस्या को लेकर काफी परेशान हैं। उनका कहना है कि कई बार उच्चाधिकारियों को इस बारे में अवगत करवाने के बावजूद विद्यालय में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की जा रही है।
पंचायक सहायक के भरोसे कर दिया रेकर्ड
राजकीय प्राथमिक विद्यालय सांवलाई नाडी स्कूल में शिक्षक नहीं होने के कारण पंचायत सहायक को लगाया गया है। पिछले सत्र से शिक्षक नहीं होने से यह पंचायत सहायक ही विद्यालय खोलकर बच्चो को पढ़ाई करवा रहा है। इस विद्यालय में पंचायक सहायक ही विद्यार्थियों की उपस्थिति दर्ज कर रहा है। वहीं पोषाहार भी पंचायत सहायक के भरोसे है। ऐसे में इस विद्यालय में पढऩे वाले बच्चों को मिल रही शिक्षा की गुणवत्ता पर सवालिया निशान लग रहा है। यहां पीईईओ की ओर से दूसरा शिक्षक नहीं लगाने से प्रवेशोत्सव कार्यक्रम भी प्रभावित हो रहा है।
इनका कहना
सांवलाई नाडी स्कूल में पंचायत सहायक को लगाया गया है।इस विद्यालय में शिक्षक को लगाना डीईओ का काम है।
-कमल किशोर, प्रधानाचार्य, राउमावि बावतरा
बावतरा के सांवलाई नाई स्कूल एक साल से पंचायत सहायक के भरोसे संचालित हो रही है, तो ये गंभीर मामला है। पता कर कार्रवाई करेंगे।
-ललितशंकर आमेटा, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned