scriptRajasthan Politics: चुनाव जरूर हार गए, लेकिन जनता के मुद्दे उठाने में कोई कमी नहीं रखेंगे- वैभव गहलोत | Rajasthan Politics: Vaibhav Gehlot held a thanksgiving meeting in Jalore | Patrika News
जालोर

Rajasthan Politics: चुनाव जरूर हार गए, लेकिन जनता के मुद्दे उठाने में कोई कमी नहीं रखेंगे- वैभव गहलोत

Rajasthan Politics: वैभव ने कहा कि जनहित के मुद्दों पर हमेशा साथ खड़ा रहूंगा। लोगों के लिए जब भी सड़क पर उतरना है, हम तैयार हैं।

जालोरJun 24, 2024 / 11:30 am

Rakesh Mishra

Rajasthan Politics: पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र और जालोर सीट से कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी वैभव गहलोत ने शनिवार को एक होटल में धन्यवाद सभा की। वैभव गहलोत ने कहा कि चुनाव भले ही हार गए, लेकिन इसकी चर्चा दिल्ली तक थी। यहां 20 साल से कांग्रेस हार रही थी। यह कठिन सीट थी। हाइकमान के निर्देश पर में यहां से चुनाव लड़ा। समस्त कांग्रेसजनों ने पूरी कोशिश की और मजबूती से चुनाव लड़ा। कई बार ऐसी परिस्थितियां हो जाती हैं कि चुनाव नहीं जीत पाते हैं।

हार से हताश होने की जरूरत नहींः वैभव

उन्होंने कहा कि जनहित के मुद्दों पर हमेशा साथ खड़ा रहूंगा। लोगों के लिए जब भी सड़क पर उतरना है हम तैयार हैं। 20 साल से यह क्षेत्र पिछड़ा रहा। अब उम्मीद भाजपा सांसद से कर रहे हैं कि वे इसके लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि ओड़वाड़ा प्रकरण के बारे में पता चलने पर हमने अपने प्रयास किए ताकि लोगों को कोई परेशानी नहीं हो। उन्होंने ने कहा कि भले ही हम चुनाव हार गए, लेकिन जनता के मुद्दे उठाने में कोई कमी नहीं रखेंगे। गहलोत ने कहा कि पिछले दो टर्म में राजस्थान में कांग्रेस खाता नहीं खोल पाई, लेकिन इस लोकसभा चुनाव में शीर्ष नेतृत्व में यहां 11 सीट जीत पाए। उन्होंने कहा कि राजस्थान की जनता ने अशोक गहलोत की योजनाओं को याद कर रही है। इसकी वजह से 11 सीटें जीत पाए। उन्होंने कहा कि हार से हताश होने की जरूरत नहीं है। आगामी निकाय और पंचायत चुनाव में जितना है। सब जगह जालोर सिरोही की चर्चा रही है कि चुनाव मजबूती से लड़ा गया। वैभव गहलोत ने कार्यक्रम के दौरान लोकसभा चुनाव 2024 में जालोर जिले के समस्त कांग्रेस पदाधिकारी, कार्यकर्तागणों सहित आमजन का धन्यवाद प्रकट कर आभार व्यक्त किया।

परिणाम आशा के विपरीत-राठौड़

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आरटीडीसी के पूर्व चेयरमैन धर्मेन्द्र सिंह राठौड़ ने कहा कि में कई दिन यहां चुनाव में था। यहां की जनता का मूड देख लगता था कि इस बार बदलाव जरूर होगा। माहौल बहुत अच्छा था पर परिणाम आशा के विपरीत आया। राठौड़ ने कहा कि परिणाम के बाद हमें लगा कि वैभव गहलोत निराश होंगे, लेकिन वे बिल्कुल भी निराश नहीं हुए और कहा कि किसी भी चुनौती से नहीं डरूंगा और हर चुनौती का सामना करूंगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यह जालोर में पांचवीं हार है, लेकिन यह पहले उम्मीदवार है जो हारने के बाद धन्यवाद देने आए। वैभव गहलोत भी आने वाले समय में जालोर सिरोही मारवाड़ और राजस्थान का नाम रोशन करेंगे। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए केश कला बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष महेंद्र गहलोत ने कहा कि यह हार हमारी और आपकी है। चुनाव जीता होता तो ये चेहरे मुरझाए नहीं होते। कार्यक्रम को जिलाध्यक्ष भंवरलाल मेघवाल, प्रदेश महासचिव नैन सिंह राजपुरोहित, आहोर कांग्रेस प्रत्याशी सरोज चौधरी, जालोर कांग्रेस प्रत्याशी रमिला मेघवाल, वरिष्ठ कांग्रेसी सवाराम पटेल, प्रदेश महासचिव उम सिंह राठौड़, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष आसुराम देवासी ने भी सम्बोधित किया।

Hindi News/ Jalore / Rajasthan Politics: चुनाव जरूर हार गए, लेकिन जनता के मुद्दे उठाने में कोई कमी नहीं रखेंगे- वैभव गहलोत

ट्रेंडिंग वीडियो