प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद रात को टूटे नियम कायदे, सवेरे वीरान हो गया जालोर

हालात बिगडऩे से रोकने को प्रधानमंत्री ने मंगलवार रात को दिया उद्बोधन पूरे देश में 21 दिन का लॉक डाउन, रात को जरुरी वस्तुओं की दुकानों पर जुट गई भीड


ज़ालोर. कोरोना के संक्रमण से बिगड़ रहे हालातों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के नाम संबोधन के बाद शाम को शहरवासियों ने फिर से कई स्थानों पर नियम कायदे तोड़े। भाषण की समाप्ति के बाद जरुरी सेवाओं की दुकानों पर लोगों का जमघट लग गया, जबकि यह स्पष्ट किया गया है कि जरुरी सेवाएं किसी तरह से प्रभावित नहीं होंगी और वे बदस्तूर जारी रहने के साथ किसी तरह की परेशानी आमजन को नहीं होने दी जाएगी। मामले में दूसरा पहलू यह भी रहा कि मंगलवार दिनभर लोगों ने लॉक डाउन की पालना की और सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा, लेकिन एक बार फिर से शाम को लोगों की भीड़ मेडिकल शॉप, किराणा और सब्जी विक्रेताओं को यहां देखने को मिली। सीधे तौर ये हालात संक्रमण को न्योता है।
अब सख्ती दिखा रही पुलिस
पिछले तीन दिनों में लगातार हालात बदलते चल गए। लॉक डाउन के हालातों के बीच बेवजह घूमने वाले लोगों े से पुलिस और प्रशासने समझाइश की, लेकिन लोग फिर भी बेफ्रिक होकर घूमते रहे। जिसके बाद बुधवार से पुलिस को सख्ती बरती पड़ी और कई स्थानों पर पुलिस ने युवाओं को खदेड़ा।वीरान रास्ते, पुलिस ऑन रूटबुधवार को शहर की सड़कों सन्नाटा पसरा रहा। सड़कों पर हलकी चहल कदमी नजर आई, जो पुलिस और प्रशासन की थी। वहीं पुलिस के कुछ जवान अपने वाहनों से विभिन्न गली मोहल्लों पर निगरानी कर रहे थे और सख्ती भी बरत रहे थे।व्यस्त रास्तों पर सतर्कता ज्यादामंगलवार से ही यातायात को रोक दिया गया था, जिसके बाद शहर में भी अधिकतर स्थानों पर बेरिकेट्स लगाए गए। इसी कड़ी में बु्धवार को कु्ïछ औïर रास्तों और गलियों को भी बंद कर दिया गया। जिसें अस्पताल रोड से एसआर पेट्रोल पंप के दोनों छोर पर बेरिकेट्स लगाए गए ताकि इस मार्ग से अवाजाही बंद हो सके। आपात सेवाओं के तहत एंबुलेंस तथा अन्य वाहनों के लिए भी रूट निर्धारित किए गए हैं। वहीं भीतरी मार्ग पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं।
क्या करें, क्या न करें
अब पूरी तरह से 21 दिन का लॉक डाउन प्रभावी हो चुका है। ऐसे में अनावश्यक कार्य, घूमने फिरने पर पाबंदी है। जरुरी काम होने पर ही घरों से बाहर निकले। जरुरी काम में मेडिकल सेवा, घरेलू किराणा, सब्जी की खरीद हैं। अनावश्यक कार्य से घरों से बाहर निकलने पर आप आफत में घिर सकते हैं। अभी पार्क, वॉकिंग पर भी पूरी तरह से रोक है। इसलिए वर्तमान हालातों में संभावित परेशानी और पुलिस की सख्ती से बचने के लिए घरों में ही रहे।

khushal bhati Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned