देखें-सांचौर नगरपालिका में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर इस तरह सोशल मीडिया पर हुई पार्षदों की जिरह

Binjaram Ram Dudi

Publish: Dec, 08 2017 11:45:21 (IST)

Jalore, Rajasthan, India
देखें-सांचौर नगरपालिका में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर इस तरह सोशल मीडिया पर हुई पार्षदों की जिरह

कहा- अध्यक्ष के पिता ने असंतुष्ट पार्षदों के घर रुपयों के साथ पहुंचाई महंगी घरेलू सामग्री

साचौर. नगरपालिका में भाजपा बोर्ड के खिलाफ अपने ही पार्षदों की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाने के मामले में गुरूवार को एक दूसरे पर रुपयों के लेने-देन का खुला आरोप लगाकर सनसनी फैला दी है।
मनोनीत पार्षद हरीश पुरोहित ने भाजपा के पांच पार्षदों पर रुपए लेने व पालिकाध्यक्ष पर अविश्वास प्रस्ताव लाने की धमकी देकर गलत ढंग से वूसली करने का आरेाप लगाया है। इसको लेकर सोशल मीडिया से लेकर शहर में चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। नगरपालिका मंडल सांचौर वाट्सएप गु्रप पर दिनभर पार्षदों ने एक-दूसरे पर रुपयों के लेन-देन का आरोप लगाया। वहीं बोर्ड के गठन के दौरान भी पैसों की लेन-देन को लेकर गंभीर आरोप लगते रहे। सोशल मीडिया पर पार्षदों की ओर से लगाए जा रहे इन लेन-देन के आरोप-प्रत्यारोप के बीच भाजपा के बड़े नेता भी चुप्पी साधे हुए हैं।
इन पार्षदों पर लगे आरोप
भाजपा के मनोनीत पार्षद पुरोहित ने गुरूवार को भाजपा के पांच पार्षदों पर बोर्ड गठन के बाद से ही लगातार पालिकाध्यक्ष को अविश्वास प्रस्ताव लाने की धमकी देने की बात कहते हुए सीट पर बने रहने के बदले पैसे मांगने का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि निर्दलीय पार्षद हरिश त्रिवेदी, भाजपा पार्षद हीना देवी के पति नारायण पुरोहित, पार्षद सोहिल खान के पिता साहेब खान, पार्षद दीपिका के पति मुकेशकुमार जीनगर पर पालिकाध्यक्ष से पिछले ढाई साल में निरन्तर रुपए लेने का आरोप लगाया। इसके अलावा एलईडी टीवी, फ्रिज व एसी सहित अन्य कीमती सामान भी इन पार्षदों के घर पर पहुंचाने की बात कही। और तो और बोर्ड के गठन के दौरान भी इनपार्षदों पर रुपए के बदले वोट देने का गंभीर आरोप लगाते हुए इस रकम को वापस लौटाने की मांग कर डाली।
पार्टी नेता की भूमिका इनके लिए वरदान
भाजपा पार्षदों की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाने के मामले में मचे घमासान के बाद असुन्ष्ट पार्षद गुट भूमिगत हो गया है। वहीं पार्षदों के साथ जाने वाले भाजपा नेता मिलापचंद मेहता की भूमिका विरोधी खेमे के पार्षदों के लिए वरदान बनी हुई है। मेहता अपनी टीम में शामिल भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के जिला संयोजक महेन्द्रङ्क्षसह राव के साथ सक्रियता से विरोधी खेमे के पार्षदों को शरण दिए हुए हैं। इसको लेकर भाजपा की अन्दरूनी लड़ाई फिल्हाल चरम पर है।
मनोनीत पार्षद : दिए घरेलू उपकरण, प्रतिपक्ष नेता : स्वत: त्यागपत्र दें
अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले ५ पार्षद अक्सर अध्यक्ष के पिता पर दबाव बनाकर पैसे देने की मांग करते हैं। इसको लेकर पालिकाध्यक्ष ने नगदी के अलावा उन्हें मांग के अनुसार महंगे घरेलू उपकरण भिजवाए, लेकिन वक्त के साथ उन्होंने डिमांड भी बढ़ा दी। ये सामान इन पार्षदों के घर आज भी मौजूद हैं।
-हरिश पुरोहित, पार्षद
मामला गम्भीर है। पालिकाध्यक्ष ने भी भ्रष्टाचार किया होगा, तभी पार्षदों को देने की बात हो रही है। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस ने बैठकों में विरोध भी किया था। नया बोर्ड बनने के बाद कोई भी अध्यक्ष बने, भ्रष्टाचार का विरोध जारी रहेगा। इन सब के बाद पालिकाध्यक्ष को स्वत: ही त्याग-पत्र दे देना चाहिए।
-बीरबल बिश्नोई, नेता प्रतिपक्ष, न.पा. सांचौर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned