मदर मिल्क बैंक से दो साल में 835 नवजातों को मिला मां का दूध

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. शहर के मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केंद्र में संचालित आंचल मदर मिल्क बैंक के सफलतापूर्वक दो वर्ष पूर्ण होने पर गुरुवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ एमसीएच प्रभारी डॉ. नैनमल परमार ने केक काट कर किया। मदर मिल्क बैंक के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. मुकेश चौधरी ने बताया कि दो साल पूर्व 19 मार्च 2018 को एमसीएच में मदर मिल्क बैंक का शुभारम्भ हुआ था, जो आज जालोर के नवजातों के लिये वरदान साबित हो रहा है। मां का दूध किसी जरूरतमंद बच्चे का नया जीवन देता है। इसका दान भी पुण्यशाली है। जालोर की मातृ शक्ति अपना दूध ऐसे मासूमों को पिला रही हैं, जिन्हें किसी कारण मां का दूध नसीब नहीं हो पाता है। आज तक 1142 माताओं ने स्वेच्छा से आगे आकर दुग्ध दान किया है। यह दुग्ध ऐसे नवजात बच्चों को उपलब्ध कराया जाता है, जिन्हें किसी कारणवश मां का दूध नहीं मिल पाता है। आज तक 835 नवजात इससे लाभाविन्त हुए हैं। बैंक प्रबंधक नीतू गर्ग ने मदर मिल्क बैंक के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जालोर में मदर मिल्क बैंक खुलने से कई माताएं लाभान्वित हुई हैं। बैंक में कार्यरत ऊषा खेदड़ व ऊषा सुंदेशा की ओर से महिलाओं को मदर मिल्क बैंक के बारे में जागरुक किया जा रहा है। ताकि महिलाएं इसका लाभ ले सकें। पीएमओ डॉ. एसपी शर्मा ने जालोर मदर मिल्क बैंक की टीम के कार्य की सराहना की। साथ ही सफलतम दो वर्ष पूर्ण होने पर टीम को बधाई दी। इस अवसर पर डीपीएम चरणसिंह, डॉ. सोहन कड़ाला, डॉ. खुशाल सुंदेशा, गुलजार अली, धनश्याम जीनगर, असलम शेख, मनोहर लाल, कुयाराम, शहजाद खान, प्रवीण शर्मा, चम्पालाल, रितेश श्रीमाली, आमीर शेख, हितेश गुप्ता, कांतिलाल, एलसी, सुनिता, जॉली सेमुअल, रमणी, कविता व भूपेंद्र गर्ग समेत कई मौजूद थे।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned