पंचायतीराज दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन

पंचायतीराज दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन
Seminar on Panchayati Raj Diwas in Jalore

Dharmendra Ramawat | Publish: Apr, 25 2018 10:09:15 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

जिले भर में पंचायतीराज दिवस के 25 वर्ष पूर्ण होने पर हुए कार्यक्रम, जिला मुख्यालय पर हुई संगोष्ठी

जालोर. जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से मंगलवार सवेरे पंचायतीराज दिवस के 25 वर्ष पूर्ण होने पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।साथ ही आगामी 29 अपे्रल को दिल्ली में आयोजित होने वाली कांग्रेस रैली की पूर्व तैयारियों को लेकर बैठक जिला प्रभारी सोमेंद्र गुर्जर के मुख्य आतिथ्य एवं जिलाध्यक्ष डॉ. समरजीत सिंह राठौड़ की अध्यक्षता में राजीव गांधी भवन जालोर में बैठक का आयोजन किया गया। पंचायतीराज के 25 वर्ष पूर्ण होने पर समस्त कांग्रेसजन ने संगोष्ठी का आयोजन कर पंचायतीराज के लिए अपने अपने विचार रखे। साथ ही आगामी 29 अप्रैल को दिल्ली में आयोजित होने वाली रैली के लिए विचार विमर्श किया गया।
बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष डॉ. समरजीत सिंह राठौड़ ने कहा कि 24 अप्रैल 1993 को 73वां एवं 74वां संविधान संशोधन लागू हुआ था, जिसके बाद ही पंचायतो एवं नगरीय निकायों को संवैधानिक अधिकार प्राप्त हुए थे। संविधान की अनुसूची 11 के अनुसार पंचायतीराज व्यवस्था को 29 विभाग और अनुसूची 12 के अनुसार नगरीय निकायों को 18 विभागों के कार्य का संचालन एवं क्रियान्वयन करना तय किया गया था। बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश सचिव एवं जिला प्रभारी सोमेंद्र गुर्जर ने कहा कि वर्तमान में पंचायतीराज एवम नगरीय निकायों को जो शक्तियां मिली हुई है वे सभी कांग्रेस की देन है साथ ही कांग्रेस पार्टी चाहती है कि भविष्य में पंचायती राज को और अधिक मजबूत किया जा सके। इस अवसर पर पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल, प्रकोष्ठ प्रदेशाध्यक्ष प्रेमाराम देवासी, सवाराम पटेल,पूर्व जिलाध्यक्ष नैनसिंह राजपुरोहित, जिला प्रवक्ता योगेन्द्र सिंह कुम्पावत, जिलामहासचिव कल्याण सिंह बोकड़ा, जिला सचिव नेनाराम माली,राजीव गांधी पंचायती राज के जीतेन्द्र कसाना, आम सिंह परिहार, ग्रेनाइट एसोसियन अध्यक्ष लाल सिंह धानपुर,नेता प्रतिपक्ष मिश्रीमल गहलोत, सेवादल मुख्य संगठक वीरेंद्र जोशी,भारमल कोटड़ा, नाजिम खान, पूर्व सचिव लादूराम चौधरी,एस टी प्रदेश सचिव छगन आर्य समेत कई जने मौजूद थे।
आहोर. पंचायत समिति सभागार में मंगलवार को पंचायतीराज स्थापना दिवस समारोहपूर्वक मनाया गया। मां सरस्वती की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन तथा माल्यार्पण के साथ समारोह का शुभारंभ हुआ। समारोह में प्रधान राजेश्वरी कंवर ने बताया कि 24 अपे्रल 1993 से 73वां संविधान संशोधन लागू हुआ। जिसमें पंचायतीराज सशक्त हुआ। उन्होंने प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर जनसहभागिता सुनिश्चित कर सप्ताहिक सभा अपनी पंचायत अपना विकास की तर्ज पर करने का सुझाव दिया। विकास अधिकारी इन्द्रसिंह राजपुरोहित ने बताया कि सर्वप्रथम राजस्थान से ही पूर्व प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू ने 2 अक्टूबर 1949 को नागौर में पंचायतीराज की नींव रखी थी। सहायक अभियंता सी.पी. वर्मा ने महानरेगा योजना पर विस्तृत चर्चा कर योजना से मिलने वाले रोजगार के बारे में जानकारी दी। पंचायत प्रसार अधिकारी मेहराब खां ने पंचायतीराज के उदय से लेकर वर्तमान तक के इतिहास पर प्रकाश डाला। खंड समन्वयक मुरारीलाल शर्मा ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत हासिल की गई उपलब्धियों के बारे में बताया। समाजसेवी राजवीरसिंह देवड़ा ने भी पंचायतीराज पर विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के बाद कार्यालय स्टाफ द्वारा पंचायत समिति परिसर में साफ सफाई की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned