कागजों में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, आबादी में डाल रहे शहर का कचरा

कागजों में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, आबादी में डाल रहे शहर का कचरा
वार्डवासियों ने कलक्टर व आयुक्त को दिया ज्ञापन

Dharmendra Ramawat | Updated: 11 Oct 2019, 11:20:06 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. शहर स्थित हनुमान नगर कॉलोनी में बुधवार शाम कचरे में लगी आग के बाद दमकल ने इसे बुझाया जरूर, लेकिन आग लगने के बाद से लेकर अगले दिन सुबह धूप खिलने तक जले हुए कचरे से धुआं उठता रहा। जिसके कारण कॉलोनीवासी रात भर परेशान नजर आए। गुरुवार को इस गंभीर समस्या के समाधान के लिए वार्डवासी संपर्क समाधान शिविर में भी पहुंचे, लेकिन शिविर में कलक्टर ने उनकी समस्या के समाधान के बजाय जो जवाब दिया उसे सुनकर सभी हैरान रह गए। कलक्टर का कहना था कि यह समस्या हर शहर की है और शहर का कचरा शहर में नहीं तो कहां डाला जाएगा। आबादी क्षेत्र में डाले जा रहे पूरे शहर के कचरे और उसमें बार-बार आग लगने से परेशान वार्डवासियों की इस समस्या को इस तरह अधिकारी भी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। हालांकि शिविर में मौजूद जिला प्रमुख वन्नेसिंह गोहिल ने भी आबादी क्षेत्र में कचरा डालने व उसमें आग लगाने को गंभीर समस्या बताते हुए इसके निस्तारण की बात कही, लेकिन अन्य अधिकारियों को यह मामूली नजर आई। अधिकारियों ने यह भी कहा कि उस जगह पर सालों से कचरा डाला जा रहा है। ऐसे में यहां कचरा नहीं डालने की योजना में समय लगेगा और काम जैसे चल रहा है वैसे ही होगा। इसके बाद कलक्टर ने नगरपरिषद आयुक्त जगदीश खीचड़ से वीसी के जरिए बात की। जिस पर खीचड़ का कहना था कि डंपिंग यार्ड के लिए भागली में जमीन तलाशी जा रही है और इसकी पत्रावली भी चल रही है।
कचरा वार्ड में ही डालेंगे
शिविर में कचरा निस्तारण की समस्या लेकर पहुंचे वार्डवासियों को अधिकारियों ने मौके पर एक कार्मिक को नियुक्त करने की बात कही। ताकि वहां कोई कचरा नहीं जलाए, लेकिन कचरा डालने पर पाबंदी लगाने के बजाय सात दिन तक जेसीबी लगाकर कचरे को समतल करने व चूने का छिड़काव करने की बात कही।
कागजों में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट
शिविर में वार्डवासियों के साथ फरियाद लेकर पहुंचे पार्षद हंसमुख नागर ने कलक्टर से कहा कि डीएलबी डायरेक्टर के निर्देशों के तहत हर नगर निकाय में सितंबर माह तक सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को लेकर टेंडर किए जाने थे, मगर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। अगर यह कार्रवाई की जाती तो आबादी क्षेत्र में इस तरह कचरा डालने की जरूरत नहीं पड़ती। जिस पर कलक्टर ने कार्रवाई के बजाय पार्षद नागर को यह बात बोर्ड के समक्ष रखने की बात कही।
आयुक्त ने किया निरीक्षण, वार्डवासियों ने दिया ज्ञापन
इधर, बुधवार शाम हनुमान नगर में कचरे में आग लगने के अगले दिन गुरुवार सुबह नगरपरिषद आयुक्त खीचड़ कॉलोनी में निरीक्षण के लिए पहुंचे। उस समय भी कचरे में लगी आग से धुआं उठता नजर आया। वहीं बाद में वार्डवासियों ने कलक्टर व आयुक्त को ज्ञापन देकर गीला-सूखा कचरा एक साथ डालने से पनप रहे मच्छरों, गंदगी, बदबू और बीमारी फैलने की समस्या बताई। साथ ही 5 दिन में समाधान नहीं होने पर न्यायालय की शरण लेने और निकाय चुनावों का बहिष्कार करने की चेतावनी दी। इस मौके पार्षद नागर, वार्डवासी बंशीलाल सेन, नारायण माली, महेंद्र माली, रामलाल माली व भोमाराम माली मौजूद रहे।
इनका कहना...
डीएलबी डायरेक्टर ने सभी नगर निकायों में सितंबर माह तक सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को लेकर टेंडर करने के निर्देश दिए थे, लेकिन यहां प्रक्रिया शुरू तक नहीं हुई। ऐसा होता तो आबादी क्षेत्र में डाले जा रहे कचरे की समस्या से निजात मिल पाती। वैसे यहां तारबंदी कर बगीचा विकसित करने का प्रस्ताव भी रखा था, लेकिन उस पर भी कोई अमल नहीं किया गया। संपर्क समाधान शिविर में भी कचरा डालने पर रोक लगाने संबंधी कोई कार्रवाई नहीं हुई।
- हंसमुख नागर, वार्ड पार्षद

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned