शिकायत हुई तो खुद न्यायिक अधिकारी पहुंचे, रुकवाया मृत्युभोज

Dharmendra Ramawat

Updated: 02 Mar 2019, 04:29:37 PM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

जालोर. जिले का यह ऐसा पहला मामला है, जबकि एक जगह पर मृत्युभोज की शिकायत पर खुद न्यायिक अधिकारी ना केवल मौके पर पहुंचे, बल्कि पुलिस व एसडीएम को भी मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने मृतक के परिजनों को मृत्युभोज नहीं करने और इस पर मिलने वाली सजा के बारे में बताया। जिसके बाद परिजनों ने मृत्युभोज का आयोजन नहीं किया। इस तरह न्यायिक अधिकारी ने खुद मौके पर पहुंचकर जिले की जनता को भी ऐसे आयोजन नहीं करने का संदेश दिया है। जानकारी के अनुसार आहोर उपखंड के तरवाड़ा गांव में मृत्युभोज की शिकायत पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव सहित आहोर बीडीओ लक्ष्मणसिंह सांदू व पुलिस जाब्ता शुक्रवार मौके पर पहुंचा। मौके पर पहुंचे जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश नरेन्द्रसिंह ने मृत्युभोज रुकवाते हुए मृतक के परिजनों व मौजूद लोगों को पाबंद किया। उन्होंने लोगों को राजस्थान मृत्युभोज निवारण अधिनियम की जानकारी देते हुए इसे अपराध बताया। वहीं इसमें सजा व जुर्माने के प्रावधान की जानकारी देते हुए परिजनों को पाबंद किया। इस मौके भाद्राजून थाने से जाब्ता, ग्राम विकास अधिकारी सुमन मीणा व सरपंच राजाराम मौके पर थे। पुलिस ने बताया कि सूचना मिलते ही परिजनों को मृत्युभोज नहीं करने के लिए पाबंद किया गया था। सचिव ने जानकारी ली तो पता चला कि ग्राम विकास अधिकारी व पुलिस जाब्ता सुबह से मौके पर ही था और मृत्युभोज के लिए भोजन नहीं बनाया गया। मौके पर करीब 15 पुरुष एक छपरे के नीचे बैठे थे और घर में कुछ महिलाएं बैठी थी। सचिव ने ग्राम विकास अधिकारी, पुलिस प्रशासन व बीडीओ से कहीं पर भी मृत्युभोज की शिकायत या जानकारी मिलने पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को सूचित करने और तत्काल कार्रवाई करने को कहा।
एक दिन पूर्व मिली थी सूचना
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जालोर को 28 फरवरी को दूरभाष व लिखित रूप से इस बारे में सूचना मिली थी। जिसमें बताया गया था कि तरवाड़ा में 17 फरवरी को एक हत्याकांड हुआ था, जिसमें ताराराम पुत्र जेपाराम मेघवाल ने कुल्हाडी के वार से पत्नी व दो पुत्रियों को मारने के बाद खुद ने भी फांसी लगा ली। जिसके बाद परिजनों व रिश्तेदारों की ओर से 1 मार्च को मृत्युभोज का आयोजन किया जाएगा। इस सूचना के बाद प्राधिकरण ने आहोर एसडीएम व भाद्राजून थाना प्रभारी को मृत्यु भोज रुकवाने के लिए पत्र जारी किया था। जिसकी प्रति कलक्टर व एसपी को भी भेजी गई थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned