टीबी रोगियों को समय पर नहीं मिल रहा सीधा लाभ

टीबी रोगियों को समय पर नहीं मिल रहा सीधा लाभ
TB patients are not getting direct benefits on time

Dharmendra Ramawat | Updated: 17 May 2018, 10:37:41 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

सूचनाएं तक अपडेटनहीं हो रही, डीबीटी अपडेट करने में बरत रहे ढिलाई

जालोर. जिला क्षय निवारण केन्द्रमें आयोजित मासिक बैठक में विभिन्न कार्यों की समीक्षा की गई।इस दौरान डायरेक्ट ट्रांसफर बेनीफिट (डीबीटी) की सूचना पोर्टल पर पूर्ण नहीं करने की बात सामने आई।अधिकारियों ने पूछा तो जवाब मिला कि डेटा अभी अपडेट करने हैं।इस तरह के मामलों को गंभीरता से लेने तथा टीबी रोगियों को समय पर सुविधा देने के निर्देश दिए गए।
बैठक में जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. सुरेशकुमार ने प्रत्येक खण्ड के कार्यों की समीक्षा की।डीबीटी की सूचना निक्सय पोर्टल में पूर्ण नहीं करने वाले खण्ड सांचौर, रानीवाड़ा व चितलवाना के एसटीएस को निर्देशित करते हुये सात दिन में कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।निक्सय ऑनलाइन पोर्टल में टीबी नोटिफिकेशन की सूचना अपूर्ण होने पर खण्ड सांचौर, चितलवाना, रानीवाड़ा एवं जालोर के एसटीएस को सूचना दो दिन में अपडेट करने को निर्देशित किया। जिला कार्यक्रम समन्वयक अभिमन्यु सिंह ने तम्बाकू कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी तथा निर्देशित किया किप्रत्येक टीबी रोगी की स्क्रीनिंग कर रोगी के तम्बाकू सेवन एवं शुगर की जांच करवा कर जिला स्तर पर भिजवाएं।जिला आईईसी समन्वयक कमल गेहलोत, जिला पीपीएम समन्वयक इमरान बेग ने जिले में समुदाय को क्षय रोग के बारे में जागरूक करने के उद्देश्य से राज्य स्तर से आंवटित लक्ष्यों के अनुरूप गतिविधियों का आयोजन करने के निर्देश दिए। बैठक की अध्यक्षता डिप्टी सीएमएचओ डॉ.एसके चौहान ने की। पीएमडीटी समन्वयक सुरेश कुमार, राजेन्द्रसिंह, मीना माथुर आदि मौजूद रहे।
एसटीएस से मांगा स्पष्टीकरण
जागरूकता सम्बंधी गतिविधियों का कम आयोजन करने वाले एसटीएस से कार्य में पिछडऩे के कारण पूछते हुए स्पष्टीकरण मांगा गया।एसटीएस व एसटीएलएस को निर्देशित किया कि क्षेत्र में भ्रमण के दौरान यह सुनिश्चित करें कि राज्य एवं जिला स्तर से भेजी आईईसी सामग्री किसी स्वास्थ्य केन्द्र पर प्रदर्शित कर रखी है या नहीं।की गई
नहीं बढ़ा रहे टीबी रोगियों का रैफरल
टीबी रोगियों का रैफरल कम हो रहा है, जिस पर चिंता जाहिर की गई।बैठक में रैफरल बढ़ाने के निर्देश दिए गए।बताया कि जिन ब्लॉक में आशाओं की ओर से टीबी रोगी की रैफरल कम हो रही है उन जगह आशाओं की अलग से बैठक ली जाए तथा संवेदीकरण करते हुए रैफरल संख्या बढ़ाई जाएं। समीक्षा के दौरान सामने आया कि सांचौर, चितलवाना, रानीवाड़ा व भीनमाल ब्लॉक में रैफरल संख्या कम हो रही है।
लक्ष्य तक अर्जित नहीं हो रहा
जिले की भौतिक रिपोर्ट का आंकलन करने पर पाया गया कि लक्ष्य के अनुरूप कम उपलब्धि अर्जित की जा रही है। रानीवाड़ा व सांचौर ब्लॉक में यह स्थिति सामने आ रही है।इस ब्लॉक के एसटीएस को निर्देशित किया कि खण्ड में चिकित्सा कर्मीयों से समन्वय बनाते हुए लक्ष्य को अर्जित करें। प्रत्येक खण्ड के सभी एमडीआर रोगी की एक्सडीआर जांच करवानी है। इसके लिएनियमित समय में जांच के लिए सैम्पल भेजने के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned