scriptTeam from Jaipur reached Rankhar Conservation Reserve Area, this area | रणखार कंजर्वेशन रिजर्व एरिया तक पहुंची जयपुर से टीम, भविष्य में देशभर में पहचान हासिल करेगा यह क्षेत्र | Patrika News

रणखार कंजर्वेशन रिजर्व एरिया तक पहुंची जयपुर से टीम, भविष्य में देशभर में पहचान हासिल करेगा यह क्षेत्र

- इसी क्षेत्र में वेटलैंड, बर्ड सेंचुरी की कवायद भी होगी वन क्षेत्र के जीव ज्यादा सुरक्षित होंगे

जालोर

Updated: May 13, 2022 08:10:01 pm

जालोर/ वेडिय़ा. जालोर जिले के रणखार क्षेत्र में कंजर्वेशन रिजर्व एरिया घोषित होने के बाद जयपुर मुख्यालय के आला अधिकारी स्थिति के आंकलन के लिए शुक्रवार को मौके पर पहुंचे। मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक अरिंदम तोमर इस महत्वपूर्ण घोषणा के बाद जिले के रणखार क्षेत्र में पहुंचे और क्षेत्र का विजिट कर संतोष व्यक्त किया।
मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक (पीसीसीएफ) तोमर ने कहा कि इस पूरे क्षेत्र की स्थिति महत्वपूर्ण है। यहां प्रवासी पक्षियों में फ्लेमिंगो समेत अन्य पक्षी भी पहुंचते हैं। वहीं झाखरड़ा में सफेद चिंकारा व कृष्ण मृग बड़ी संख्या में है। ये स्थिति कंजर्वेशन रिजर्व एरिया के लिए महत्वपूर्ण साबित होगी और यहां वन्यजीव, प्रवासी पक्षी भी प्रजनन करने के साथ उन्मुक्त विचरण कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि झाखरड़ा वन क्षेत्र में वन्य जीवों के लिए प्राकृतिक रेस्क्यू सेंटर, प्रवासी पक्षियों के लिए पक्षी विहार बनाने को लेकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान जालोर से उप वन संरक्षक यादवेंद्रसिंह चूंडावत, बाड़मेर डीएफओ संजय प्रकाश, रानीवाड़ा रेंजर श्रीराम विशनोई, धोरीमन्ना रेंजर नरसीगाराम गौड़, भंवरलाल भादू मौजूद रहे।
- इसी क्षेत्र में वेटलैंड, बर्ड सेंचुरी की कवायद भी होगी वन क्षेत्र के जीव ज्यादा सुरक्षित होंगे
- इसी क्षेत्र में वेटलैंड, बर्ड सेंचुरी की कवायद भी होगी वन क्षेत्र के जीव ज्यादा सुरक्षित होंगे
होंगे महत्वपूर्ण कार्य
पीसीसीएफ ने कहा कि वन क्षेत्र में चारदीवारी और तालाबों का निर्माण करवाया जाएगा, ताकि वन्य जीवों ओर प्रवासी पक्षियों को पानी उपलब्ध हों सकें। उन्होंने कहा कि रणखार व झाखरड़ा वन्य जीवों व प्रवासी पक्षियों को सुरक्षित क्षेत्र मुहैया करवाने के लिए वेटलैंड क्षेत्र विकसित हो सकता है।
अधिक संख्या में जंगली गधे
राजस्थान क्षेत्र के कच्छ के रण में पाए जाने वाले जंगली गधे आकोडिय़ा रणकार क्षेत्र में काफी संख्या में पाए जाते हैं। गुजराती जंगली गधों को अब राजस्थान का आशियाना मिल रहा है। जंगली ***** मूल रूप से लवणीय क्षेत्र में पाए जाते हैं। अब आकोडिय़ा के रणखार क्षेत्र में अपना ठिकाना बना रहे हैं। रणखार में कंजर्वेशन रिजर्व एरिया घोषित होने से कैटेगरी-प्रथम का यह जंगली गघा भी यहां संरक्षण पाएगा और सुरक्षित माहौल में प्रजनन कर सकेगा।
अपे्रल में घोषित हुआ रिजर्व एरिया
जालोर जिले का रणखार क्षेत्र 25 अपे्रल 2022 को कंजर्वेशन रिजर्व एरिया घोषित हुआ है। यह राज्य का 15वां कंजर्वेशन रिजर्व एरिया है। गौरतलब है कि महत्वपूर्ण पहल को लेकर राजस्थान पत्रिका ने सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित किए थे और इसी कड़ी में सरकार ने महत्वपूर्ण सकारात्मक पहल की।
इनका कहना
यह महत्वपूर्ण हिस्सा है और यहां तक प्रवासी पक्षियों में साइबेरियन सारस, फ्लेमिंगो समेत अन्य पक्षी पहुंचते हैं। इसके अलावा अन्य वन्य जीवों की भी भरमार है। इसी क्षेत्र में वैटलैंड और ग्रास लैंड विकास की भी प्रबल संभावनाएं है।
- अरिंदम तोमर, मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक, जयपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

BJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंRaj Thackeray Ayodhya Visit: राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा स्थगित, पांच जून को रामलला का दर्शन करने वाले थे मनसे प्रमुखलालू के ठिकानों पर CBI Raid; सामने आई RJD की पहली प्रतिक्रिया, मात्र 5 शब्द में पूरे सिस्टम को लपेटाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद कौन होगा दिल्ली का उपराज्यपाल? चर्चा में हैं ये 5 नामRoad Rage Case: नवजोत सिंह सिद्धू ने सरेंडर के लिए कोर्ट से मांगा वक्त, खराब सेहत को बताया कारणबेंगलुरू हवाईअड्डे को बम से उड़ाने की धमकी, अधिकारियों ने शुरू की जांचलालू यादव पर फिर शिकंजा, सीबीआई ने राजद सुप्रीमो से जुड़े 17 ठिकानों पर मारा छापाAzam Khan Release: दो साल बाद जेल से रिहा हुए आजम खान, दोनों बेटों ने किया रिसीव, शिवपाल भी पहुंचे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.