कानीवाड़ा हनुमानजी मंदिर में चोरी का पर्दाफाश

आहोर पुलिस ने कानीवाड़ा हनुमान मंदिर में गत दिनों हुई चोरी का राजफाश करते हुए एक बाल अपचारी को संरक्षण में लिया है। आहोर थानाप्रभारी घेवरसिंह के नेतृत्व में गठित टीम ने चोरी को ट्रेस करने के लिए मुख्यालय की साइबर सेल से भी सहयोग लिया

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 21 Feb 2021, 09:00 AM IST

आहोर. पुलिस ने कानीवाड़ा हनुमान मंदिर में गत दिनों हुई चोरी का राजफाश करते हुए एक बाल अपचारी को संरक्षण में लिया है। आहोर थानाप्रभारी घेवरसिंह के नेतृत्व में गठित टीम ने चोरी को ट्रेस करने के लिए मुख्यालय की साइबर सेल से भी सहयोग लिया। पुलिस के अनुसार कानीवाड़ा निवासी संावलाराम पुत्र पोलाराम व बाबूलाल पुत्र संग्रामाराम गर्ग ने रिपोर्ट पेश कर बताया था कि गत 1 व दो फरवरी की मध्यरात्रि को अज्ञात चोरों ने कानीवाड़ा हनुमानजी मंदिर का भंडारा तोडकऱ हजारों रुपए की नकदी व चांदी का छत्र चुरा लिए। इसके बाद मामले की जांच की गई। टीम प्रभारी उप निरीक्षक घीसूलाल ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर लोहारचा पुलिस थाना बेकरिया जिला उदयपुर में मंदिर चोरी के नकबजनों की तलाश की। वहीं घटना को अंजाम देने वाले नकबजनों के बारे में अहम सुराग मिलने पर मय जाब्ता मादलवा फली नाडिया (भीमाना) पुलिस थाना नाणा जिला पाली पहुंचकर विधि विरूद्ध संघर्षरत किशोर को उसके परिजनों की मौजूदगी में पुलिस संरक्षण में लेकर पूछताछ की। इस पर किशोर ने कानीवाड़ा हनुमानजी के मंदिर में चोरी की वारदात करना स्वीकार किया। किशोर ने वारदात में शामिल अन्य तीन साथियों के नाम भी बताए। जिनकी तलाश जारी है। किशोर की निशानदेही से चोरी की राशि 13 हजार 550 रुपए बरामद किए। वहीं किशोर की ओर से घटना में प्रयुक्त बाइक को भी बरामद किया गया। कार्रवाई के दौरान पुलिस टीम में हेड कांस्टेबल करनाराम, कांस्टेबल वीरमाराम, पूनमाराम, तकनीकी सहायता के लिए कांस्टेबल छतरपाल, त्रिलोकसिंह व किशनलाल का सहयोग रहा।
किशोर को भेजा संम्प्रेक्षण गृह
किशोर को प्रिंसीपल मजिस्ट्रेट किशोर न्याय बोर्ड जालोर के समक्ष पेश कर संम्प्रेक्षण गृह जालोर में भेजा गया। पुलिस ने बताया कि किशोर ने पूछताछ के दौरान कानीवाड़ा मंदिर में चोरी की वारदात को अंजाम देने में आशाराम पुत्र लालाराम, रमेश पुत्र लसाराम गरासिया निवासी पाटरिया व लालाराम पुत्र चूनाराम गरासिया लखावतों की फली भीमाना पुलिस थाना नाणा जिला पाली के शामिल होने के बारे में बताया। पुलिस वांछित तीनों आोपियों की गिरफ्तारी के लिए उनके निवास स्थान व संम्भावित स्थानों पर दबिश दे रही है। वहीं एसपी कार्यालय की साइबर सेल से भी तकनीकी सहयोग लिया जा रहा है।
नकबजनों की होशियारी काम नहीं आई
कानीवाड़ा मंदिर के दानपात्र को रात के समय तोडकऱ रुपए निकालते समय चोरों ने चेहरे कपड़ों से ढंके हुए थे और वहां पर कुत्ते नहीं भोंके इसलिए नकबजनों ने कुत्तों को बिस्किट डाले। इसके बाद आरोपियों ने वारदात को अंजाम दे दिया, मगर घटनास्थल पर वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो जाने से वारदात ट्रेस होने में सफलता मिली।
सभी मंदिरों पर कैमरे लगाने के लिए किया प्रोत्साहित
थानाप्रभारी घेवरसिंह ने थाना क्षेत्र के सभी नामी मंदिर संचालकों को मंदिर परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाने की अपील की है। वहीं दानपात्र में अधिक राशि इक_ी हो जाने पर राशि को विधि सम्मत निकालकर बैंक में जमा करवाने की बात कही है। इसके अलावा रात के समय चौकीदार रखने की भी अपील की है।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned